मंगल दोष दूर करती है हनुमानजी की आराधना

Worship of Hanuman. Keep away difficulties

hanuman vidhi, puja, yagya

hanuman ji  :

मंगलवार को श्रीहनुमान की उपासना की जाती है। अगर आप अपने जीवन में अमंगल को मंगल करने के लिए सभी प्रयत्न कर चुके और फिर भी कुछ ठीक नहीं हो रहा तो मंगलवार को श्रीहनुमान जी के इन 5 मंत्रों का जाप करें आपके सारे अमंगल कार्य मंगल हो जाएंगे।
हिन्दू धर्म में मंगलवार का दिन नाम के अनुसार ही शुभ और मंगलकारी भी माना गया है, क्योंकि धार्मिक दृष्टि से इस दिन कई ऎसे देवताओं की उपासना का दिन है, जिनके आगे काल भी नतमस्तक होता है और उनकी शक्तियां संक टनाशक मानी गई है, इन देवताओं में रूद्र अवतार हनुमान, भैरव और मंगल प्रमुख हैं, मंगलवार के दिन श्रीहनुमान और मंगल की उपासना का विशेष महत्व हैं।

ये भी पढ़े... मंगलवार को करें ये काम, बजरंग बली लगाएंगे बेड़ा पार !

श्रीहनुमान की उपासना से दूर होते हैं मंगल दोष ज्योतिष मान्यताओं में शिव अंश होने से मंगल के शुभ होने पर व्यक्ति समस्त सांसारिक सुखों को पाता है, किंतु अशुभ होने पर संतान, भूमि, धन, विवाह, पुत्र, विद्या, रोग आदि से जुड़ी पीड़ाओं का सामना करता है, यही कारण है कि मंगलवार के दिन मंगल दोष शांति का विशेष मह त्व है, लेकिन किसी कारणवश आप मंगलदोष शांति के लिए मंगल पूजा या आराधना करने में कठिनाई महसूस कर रहे हैं तो हम यहां बता रहे हैं, एक सरल उपाय जिसे अपनाना आसान और असरदार है।
मंगल दोष शांति का यह उपाय है- हनुमानजी भी रूद्र यानी शिव के अवतार माने जाते हैं, मंगल भी शिव के ही अंश है, यही वजह है कि हनुमान की भक्ति मंगल पीड़ा को भी शांत करने में प्रभावी मानी गई है। इसलिए जाने श्रीहनुमान भक्ति से मंगल दोष शांति के लिए कुछ विशेष हनुमान मंत्र, जो हनुमान की सामान्य पूजा के बाद बोलें-
पूजा के बाद श्रीहनुमान के इन 5 असरदार मंत्रों का जप करें
ओम रूद्रवीर्य समुद्भवाय नम:
ओम शान्ताय नम:
ओम तेजसे नम:
ओम प्रसन्नात्मने नम:
ओम शूराय नम:

इन 5 हनुमान मंत्रों के जप के बाद हनुमानजी और मंगल देव का ध्यान कर लाल चन्दन लगे लाल फूल और अक्षत लेकर श्रीहनुमान के चरणों में अर्पित करें। हनुमान जी की आरती कर मंगल दोष से रक्षा के लिए भगवान से प्रार्थना करें।

ये भी पढ़े... घर के मंदिर में कभी भी ना करें ये गलतिया !

बजरंग बली से जुडी हुई पौराणिक कथाएं !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *