हनुमान के दर्शन से दूर होते हैं कष्ट

hanumanji darshan

hanumanji darshan

hanumanji darshan :

राज्य के छोटे से शहर आम्बूर में आज भी हनुमान के पैरों के निशान मौजूद हैं। यह एक अनूठा हनुमान मन्दिर है। दुनिया भर में अपने किस्म का अकेला मन्दिर है। सिर्फ इसी जगह पर भगवान हनुमान का इतना उग्र रुप देखने को मिलता है। क्योंकि यहीं पर गुस्से में आकर उन्होंने शनि देवता को अपने पैरों से दबा दिया था। वेद पंडित पुरुषोत्तम शास्त्री के मुताबिक सालों तक इस जगह पर कोई आता जाता नहीं था। लेकिन एक दिन हनुमान की ये भयंकर प्रतिमा अपने आप धरती से निकली। इतनी बड़ी प्रतिमा को देखकर पहले तो लोग चौंक गए। लेकिन वहां जो पुजारी हैं उनके पूर्वजों को सपने में आकर हनुमान जी ने सारी कहानी बताई।

ये भी पढ़े... मंगलवार को करें ये काम, बजरंग बली लगाएंगे बेड़ा पार !

ये भी पढ़े... घर के मंदिर में कभी भी ना करें ये गलतिया !

सबसे पहले भक्तों को प्रसन्न मुद्रा वाले हनुमान के दर्शन करवाए जाते हैं। लेकिन जैसे ही हनुमान जी के इस उग्र मूर्ति का दर्शन होता है। शनि दोष अपने आप खत्म हो जाता है। हनुमान जी की 11 फीट ऊंची मूर्ति वहां पर है। ऐसा माना जाता है कि जब तक हनुमान जी की कृपा न हो कोई उनकी तस्वीर अपने कैमरे में कैद नहीं कर सकता। इस मंदिर और इस मूर्ति से जुड़े कई रहस्य हैं। आपको हैरानी होगी जहां एक तरफ हनुमान जी की उग्र मूर्ति यहां देखने को मिलती है वहीं दूसरी ओर हनुमान जी प्रसन्न मुद्रा में दिखाई देते है|
हनुमान जी का उग्र मूर्ति आम्बूर के इस मंदिर में देखने को मिलती है वहीं दूसरी ओर हनुमान जी प्रसन्न मुद्रा में दिखाई देते हैं। इसके पीछे भी एक बड़ा रहस्य है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *