क्यों हुआ है हनुमान का उग्र रुप

jai hanuman

jai hanuman

jai hanuman :

भारतीय शास्त्र के अनुसार शनि एक ऐसा ग्रह है जिसके प्रकोप से इंसान के साथ साथ भगवान भी नहीं बच पाए हैं। लेकिन एक बार कुछ ऐसा हुआ कि स्वयं शनि ऐसे फंसे कि उस समस्या से निजात पाना शनि जैसे क्रूर ग्रह के लिए भी मुश्किल पड़ गया।

कथा बेहद रोचक है और इस कहानी की कड़ियां जुड़े हैं रामायण काल (सतयुग) से। ये तो सभी जानते हैं कि राम की लंका विजय में उनके भक्त वीर हनुमान और उनकी पराक्रमी वानर सेना का बहुत बड़ा योगदान रहा लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि राम-रावण युद्ध में एक वक्त ऐसा भी आया था जब श्रीराम एक पल के लिए घबरा गए थे उनकी आंखो से आंसू झलक पड़े थे।

एक बार राम-रावण के युद्ध के दौरान रावण के बेटे मेघनाथ ने वानर सेना को काफी नुकसान पहुंचाया। मेघनाथ से निपटने के लिए लक्ष्मण ने मोर्चा संभाला। लक्ष्मण और मेघनाथ में भीषण युद्ध हुआ।तमाम कोशिशों के बावजूद जब मेघनाथ ने देखा कि लक्ष्मण उस पर भारी पड़ रहे हैं। तब मेघनाथ ने लक्ष्मण पर शक्ति बाण चला दिया।

आगे पढ़े…

You May Also Like