शास्त्रों में बताए गए है ये 10 सिद्ध अचूक उपाय, जो आपको दिलाएंगे आपकी जिंदगी से जुडी इन 10 प्रमुख समस्याओं से मुक्ति !

हमारे जीवन में कभी दुःख होता है तो कभी सुख यानि के ये दोनों उतार चढ़ाव के रूप में हमारे जिंदगी में लगे रहते है, परन्तु उन लोगो की जिंदगी को उत्तम बताया गया है जिनके जीवन में न तो चढ़ाव है और न ही उतराव.

परन्तु आप सोच रहे होंगे की आखिर ऐसा कैसे सम्भव हो सकता है. दरसल इसी को मध्यम मार्ग कहते है या यु कहिए सीधा एवं सरल राजपथ. लेकिन ऐसा जीवन बहुत ही कम एवं किस्मत वाले लोगो को मिल पाता है.

हमारे जीवन में हम अधिकतर अस्प्ताल, विवाह, भूमि, भवन, न्यायालय आदि ख़ास परेशानियों से जूझते रहते है. कुछ लोग तो सिर्फ इन एक दो परेशानियों से दुखी रहते परन्तु कुछ लोगो को इन सभी परेशानियों का समाना करना पड़ता है. अपने जीवन में कुछ लोग सिर्फ खोते ही खोते रहते है और कुछ लोग कुछ पाकर भी कुछ खो देते है. आज हम आपको शास्त्रों में बताए 10 अचूक उपायों के बारे में बताने जा रहे है जो आपको आपके साथ जिंदगी भर चली आ रही परेशनियों से मुक्ति दिलाने में सहायक होंगे.

नौकरी प्राप्त करने का उपाय :- अधिकतर लोग इसी समस्या से दुखी रहते है की उनके पास रोजगार या नौकरी नहीं है, जिन लोगो के पास नौकरी है भी तो उसमे स्थिरता नहीं है. इसके लिए हैं आपको शास्त्रों में बताए गए कुछ अचूक उपाय बताने जा रहे है. पहला कार्य तो यह करें की प्रतिदिन हनुमान चालीसा पढ़े.

दुसरा यदि आप किसी महत्वपूर्ण कार्य से बाहर जा रहे हो तो प्रातः काल तीन इलायची अपने दाए मुट्ठी में ले तथा श्री श्री बोल उसे खा ले. खाने के बाद बहार जाए या चुटकी भर हींग लेकर अपने सर पर घुमाए तथा उत्तर दिशा की ओर फेक दे.

तीसरा उपाय 41 दिन तक शाम को पीपल के वृक्ष के नीचे शुद्ध घी का दीपक जलाएं. चौथा किसी भी शुक्ल पक्ष के गुरुवार के दिन एक पीले वस्त्र पर अपनी अनामिका अंगुली का प्रयोग कर केसर मिश्रित सिंदूर से 63 नंबर लिख लें. फिर उसे ले जाकर माता लक्ष्मी के मंदिर में माता के चरणों में अर्पित कर दें. ऐसा तीन गुरुवार तक करें.

मकान, दूकान, प्लाट या भूमि आदि बेचने हेतु :- यदि आप अपने जमीन, दूकान, प्लाट आदि बेचना चाह रहे हो तथा इसे बेचने में समस्या उतपन्न हो रही है तो समस्या से मुक्ति पाने के लिए आप ब्र्ह्स्प्तिवार के दिन पांच कोड़ियो को काले धागे में बांधकर उसे बबूल की जड़ में बाँध दे. इसके बाद आप इस जगह पर अपनी भूमि, दूकान या प्लाट के थोड़ी से मिटटी लाकर डाल दे.

तथा अब आपको 50 ग्राम तेल प्रतिदिन अगले ब्र्ह्स्प्तिवार तक उस बबूल के पेड़ में चढ़ाना है. ऐसा करने से एक हफ्ते के भीतर ही आपकी सम्पत्ति अति शीघ्र एवं उचित मूल्य पर बिक जायेगी.

व्यापार के लाभ हेतु :- शास्त्रों में व्यापार लाभ के संबंध में एक छोटा सा उपाय बताया गया है जिससे अपनाकर आप अपने व्यापार को चमका सकते है और उन्नति प्राप्त कर सकते है. एक नींबू को दुकान या संस्थान की चारों दीवारों पर स्पर्श कराएं. इसके बाद नींबू को चार टुकड़ों में अच्छे से काट लें और चारों दिशाओं में नींबू का एक एक टुकड़ा फेंक दें.

इससे दुकान की नेगेटिव एनर्जी नष्ट हो जाएगी और व्यापार में लाभ होना शुरू हो जाएगा. यह उपाय कम से कम 7 शनिवार को करें. व्यपार में उन्नती हेतु उत्तर दिशा में सातिया बनाकर लक्ष्मीजी की स्थापना करें.

सफलता प्राप्ति हेतु :- यदि आप किसी कार्य में लगातार असफल हो रहे है या आपको किसी कार्य में मेहनत के बावजूद भी सफलता हासिल नहीं हो पा रही है तो आप शुक्ल पक्ष में पड़ने वाले बृहस्पतिवार के दिन बरगद के एक पत्ते में पांच प्रकार की मिठाई रखे तथा एक जल से भरा लोटा ले.

तथा शाम को दिन ढलने से पूर्व पीपल के वृक्ष के नीचे जाकर उस लोटे से भरे हुए जल को पीपल के वृक्ष में अर्पित करें तथा मिठाई वाले पत्ते को पीपल के वृक्ष को चढ़कर उनसे प्राथना करें. यह कार्य आपको 7 ब्र्ह्स्प्तिवार तक करना है. आप की मनोकामना निश्चित ही पूर्ण होगी.

कर्ज से मुक्ति के उपाय :- प्रदोष या एकादशी के वत्र में से कोई एक करें. एक नारियल पर चमेली का तेल मिले सिन्दूर से स्वस्तिक का चिह्न बनाएं. कुछ भोग (लड्डू अथवा गुड़-चना) के साथ हनुमानजी के मंदिर में जाकर उनके चरणों में अर्पित करके ऋणमोचक मंगल स्तोत्र का पाठ करें. तत्काल लाभ प्राप्त होगा.

दुसरा उपाय यह है की शनिवार के दिन नित्य कर्म व स्नान आदि के बाद अपने नाप का एक लम्बा धागा ले तथा उसे नारियल में लपेट ले. उस नारियल की पूजा करने के पश्चात उसे नदी में प्रवाहित कर ले. इसके साथ ही भगवान से ऋण मुक्ति की प्राथना करें.

किसी व्यक्ति से परेशान अथवा शत्रुता :- यदि आप को कोई व्यक्ति परेशान करता है या आपका कोई दुश्मन है तो यह सरल उपाय आपको इन सब चीजों से मुक्ति दिलाएगा. प्रतिदिन 7 बार बजरंगबाण का पाठ करें. 41 दिन तक करने के बाद हनुमानजी को चौला चढ़ाएं और साथ ही एक बनारसी पान का बीड़ा अर्पित करके कहें कि आप मेरी रक्षा करें.

बीमारी या संकट हटाने हेतु :- एक साबूत पानीदार नारियल लें और उसे अपने उपर से 21 बार वारकर किसी देवस्थान की आग में डाल दें. यह उपाय आप मंगलवार और शनिवार को ही करें. ऐसा पांच बार करें. ऐसा घर के सभी सदस्यों के उपर से वारकर करेंगे तो उत्तम होगा. इसके अलावा मंगलवार और शनिवार को हनुमानजी के मंदिर में जाकर हनुमान चालीसा पढ़े और एक बार उनको चौला अवश्य चढ़ा दें.

कालसर्प या शनिदोष हेतु :- जो हनुमान भक्त है उसे इस प्रकार कोई भी दोष नहीं सताता फिर भी यदि कोई व्यक्ति इन समस्याओं से जूझ रहा हो तो उस शास्त्रों में वर्णित निम्न उपाय करने चाहिए. इस समस्या से मुक्ति प्राप्त करने के लिए आप एक जालीदार जटा वाला नारियल ले तथा उसे एक काले कपडे में लपेट ले. 100 ग्राम तिल व 100 ग्राम उड़द की दाल के साथ एक कील लेकर इन्हे नदी में प्रवाहित कर ले. ऐसा करने से अत्यन्त लाभ प्राप्त होता है.

विवाह नहीं हो रहा हो तो :- इस उपाय को करने से पूर्व आआप्को निम्न सावधानी का ध्यान रखना पड़ेगा. स्त्री को गुरुवार और पुरुष को शुक्रवार करना चाहिए। प्रत्येक गुरुवार को नहाने वाले पानी में एक चुटकी हल्दी डालकर स्नान करना चाहिए. भोजन में केसर का सेवन करने से विवाह शीघ्र होने की संभावनाएं बनती है.

पीले वस्त्र पहनना चाहिए. लड़का शुक्ल पक्ष के प्रथम शुक्रवार को सूर्यास्त से पूर्व विवाह शीघ्र होने की ईश्वर से प्रार्थना कर भोजन रसोईघर में बैठकर करे, रिश्ते आने लगेंगे.

गुरुवार को केले के वृक्ष के सामने गुरु के 108 नामों का उच्चारण करने के साथ शुद्ध घी का दीपक जलाना चाहिए और जल भी अर्पित करना चाहिए. इसके अलावा गुरुवार के दिन आटे के दो पेड़ों पर थोडी-सी हल्दी लगाकर, थोड़ी गुड और चने की दाल गाय को खिलाएं. इससे विवाह का योग शीघ्र बनता है.

पुरुषों को विभिन्न रंगों से स्त्रियों की तस्वीरें और महिलाओं को लाल रंग से पुरुषों की तस्वीर सफेद कागज पर रोजाना तीन महिने तक एक एक बनानी चाहिए. यदि ऐसा नहीं कर सकते हैं विवाह प्रसंग की तस्वीर या फेरे लगाते हुए दुल्हा दुल्हन की तस्वीर घर में ऐसे स्थान पर लगाएं जहां से आप उसे रोज देख सकें. प्रतिदिन विवाह होने की कामना करना चाहिए.

दाम्पत्य जीवन में सुख :- यदि आपके कुंडली में 7 वे ग्रह में राहु है तो इस तरह के व्यक्तियों को 40 दिनों तक जल में नारियल या सम्भव न हो तो बादाम के दाने प्रवाहित करने चाहिए . इससे पती-पत्नी के संबंध में तालमेल बनता है. पत्नी को बुधवार के दिन 3 घंटे तक में व्रत लेना चाहिए.

पति पत्नीं में प्रेम हेतु :- रात को सोने से पूर्व पत्नी अपने पति के तकिये के नीचे सिंदूर की एक पुड़िया और पति अपनी पत्नीं के तकिये के नीचे कर्पूर की दो टिकियां रख दें. प्रात: होते ही सिंदूर की पुड़िया घर से बाहर फेंक दें और कपूर को निकालर कमरे में जला दें.

आर्थिक तंगी की परेशानी से मुक्ति :- यदि आप अधिकतर आर्थिक तंगी से परेशान रहते है तो आप को एकाक्षी नारियल में सिंदूर लगा कर उसे लाल कपड़े में लपेटना चाहिए तथा फिर उसकी पूजा करनी चाहिए. इसके बाद माता लक्ष्मी से प्राथना करने के लिए लाल कपडे में लपेटे एकाक्षी नारियल को व्यवसाय वाले स्थल में सुरक्षित स्थान पर रखना चाहिए.

इस उपाय से माता लक्ष्मी की कृपा आप पर होगी और आपको आर्थिक तंगी से मुक्ति प्राप्त होगी.

You May Also Like