लक्ष्मी प्राप्ति के सिद्ध एवं अचूक उपाय, जिन्हे अपनाने से आती है घर में समृद्धि !

लक्ष्मी प्राप्ति के उपाय-Laxmi prapti ke totke-लक्ष्मी सिद्ध मंत्र

लक्ष्मी प्राप्ति के टोटके, लक्ष्मी प्राप्ति के उपाय, लक्ष्मी जी को खुश कैसे करे  , लक्ष्मी जी को सिद्ध कैसे करे ,laxmi prapti ke upay, laxmi prapti ke totke, lakshmi prapti ke totke, lakshmi prapti ke upay, lakshmi ji ko khus kaise kare

अपार धन की प्राप्ति हर मनुष्य की चाहत होती है. अपार धन चाहने की इच्छा भी अपार होना जरूरी है. सिर्फ चाहने से धन नहीं मिलता उसके लिए मन में तड़प होना भी जरूरी है.

अपार धन प्राप्ति के लिए शुद्ध आचरण और शुद्ध विचार का होना भी जरूरी है. दरिद्रता, गरीबी या कर्ज से छुटकारा पाकर धनवान बनने के लिए यहां प्रस्तुत हैं आजमाए हुए ऐसे 10 अचूक उपाय जिन्हें आजमाकर आप भी धनवान बन सकते हैं.

विष्णु-लक्ष्मी पूजा : परमेश्वर के 3 रूपों में से एक भगवान विष्णु को पालनहार माना जाता है. विष्णु ने ब्रह्मा के पुत्र भृगु की पुत्री लक्ष्मी से विवाह किया था. शिव ने ब्रह्मा के पुत्र दक्ष की कन्या सती से विवाह किया था. विष्णु ही व्यक्ति को सुख, शांति और समृद्धि देने वाले देव हैं. विष्णु की पूजा और प्रार्थना करने से लक्ष्मीजी प्रसन्न होती है. लक्ष्मीजी के 18 पुत्रों की भी पूजा करने से धन की प्राप्ति होती है.

लक्ष्मी के 18 पुत्रों के नाम

* विष्णु-लक्ष्मी का बड़ा-सा चित्र घर में रहना चाहिए. शालिग्राम की नित्य पूजा पंचामृत के स्थान के साथ चंदन आदि लगाकर की जानी चाहिए.

* विष्णु-लक्ष्मी मंदिर में प्रति शुक्रवार को लाल रंग के फूल अर्पित किए जाने चाहिए.

* मां लक्ष्मी की प्रतिमा के सामने 11 दिनों तक अखंड ज्योत (तेल का दीपक) प्रज्वलित करें. 11वें दिन 11 कन्या को भोजन कराकर एक सिक्का व मेहंदी दें.

* शुक्रवार के दिन दक्षिणावर्ती शंख में जल भरकर भगवान विष्णु का अभिषेक करें. इस उपाय में मां लक्ष्मी जल्दी प्रसन्न हो जाती हैं .

देहली पूजा : प्रतिदिन सुबह उठकर विश्वासपूर्वक यह विचार करें कि लक्ष्मी आने वाली हैं. इसके लिए घर को साफ-सुथरा करने और स्नान आदि से निवृत्त होने के बाद सुगंधित वातावरण कर दें.

भगवान का पूजन करने के बाद अंत में देहली की पूजा करें. देहली के दोनों ओर सातिया बनाकर उसकी पूजा करें. सातिये के ऊपर चावल की एक ढेरी बनाएं और एक-एक सुपारी पर कलवा बांधकर उसको ढेरी के ऊपर रख दें. इस उपाय से धनलाभ होगा.

बंद किस्मत खोले ताला : सबसे पहले आप ताले की दुकान पर किसी भी शुक्रवार को जाएं और एक स्टील या लोहे का ताला खरीद लें. लेकिन ध्यान रखें ताला बंद होना चाहिए, खुला ताला नहीं. ताला खरीदते समय उसे न दुकानदार को खोलने दें और न आप खुद खोलें. ताला सही है या नहीं, यह जांचने के लिए भी न खोलें. बस, बंद ताले को खरीदकर ले आएं.

उस ताले को एक डिब्बे में रखें और शुक्रवार की रात को ही अपने सोने वाले कमरे में बिस्तर के पास रख लें. शनिवार सुबह उठकर स्नान आदि से निवृत्त होकर ताले को बिना खोले किसी मंदिर या देवस्थान पर रख दें. ताले को रखकर बिना कुछ बोले, बिना पलटें वापस अपने घर आ जाएं.

विश्वास और श्रद्धा रखें, जैसे ही कोई उस ताले को खोलेगा आपकी किस्मत का ताला भी खुल जाएगा. यह लाल किताब का जाना-माना प्रयोग है. अपनी किस्मत चमकाने के लिए इसे अवश्य आजमाएं…

गाय को गुड़ खिलाएं : सवा 5 किलो आटा एवं सवा किलो गुड़ लें. दोनों का मिश्रण कर रोटियां बना लें. गुरुवार के दिन सायंकाल गाय को खिलाएं. 3 गुरुवार तक यह कार्य करने से दरिद्रता समाप्त होती है.

शुक्रवार को पीले कपड़े में 5 कौड़ी और थोड़ी-सी केसर, चांदी के सिक्के के साथ बांधकर तिजोरी या धन रखने के स्थान पर रख दें. उसके साथ थोड़ी हल्दी की गांठें भी रख दें. कुछ दिनों में ही इसका असर होने लगेगा.

धन से बढ़ता धन : अपनी तिजोरी में 10 के लगभग 100 से ज्यादा नोट रखें. जेब में हमेशा कुछ सिक्के रखें. खुद को धनवान मानना शुरू कर दें और उसी तरह से कपड़े पहनें और जो भी आप खरीदना चाहते हैं उसके बारे में कल्पना करें. जो लोग खुद को दरिद्र मानते हैं, वे हमेशा दरिद्र ही बने रहते हैं.

हमेशा सकारात्मक सोचें और खुद को साफ और स्वच्छ बनाए रखें. प्रतिदिन मंदिर जाएं और जो मिला है उसके लिए धन्यवाद देने के साथ अपनी नई मांग रखें और उस मांग की पूर्ति का श्रद्धा और सबूरी के साथ इंतजार करें.

अन्नदान से लाभ : प्रतिदिन कौए, गाय और कुत्ते को रोटी खिलाएं. काले कुत्ते को शनिवार के दिन सरसों के तेल से चुपड़ी हुई रोटी खिलाएं. धनलाभ में आ रही बाधा दूर होगी.

गुरुवार करें : प्रति गुरुवार को पीपल में जल चढ़ाएं और माथे पर केसर का तिलक लगाएं. धनलाभ होगा.

दीपक जलाएं : प्रति शनिवार को पीपल के वृक्ष के नीचे घी का दीपक जलाएं और सुगंधित अगरबत्ती लगाएं.

गणेशजी को प्रसन्न करें : प्रति बुधवार को गणेशजी को बेसन के लड्डू का भोग लगाएं. मंदिर में 5 तरह के फल या गुड़ और चने का दान करने से भी धन की प्राप्ति होती है.

You May Also Like