अपने पूर्व जन्म के इस पाप के कारण थे धृतराष्ट्र जन्म से अंधे, जाने धृतराष्ट्र से जुडी रोचक एवं अनसुनी बाते !

dhritrashr

महाभारत के पात्र धृतराष्ट्र के बारे में ये तो सभी को पता है की वे अंधे थे, परन्तु क्या आपको पता है की उनका यह अंधापन उन्हें पिछले जन्म में मिले एक श्राप के कारण था तथा धृतराष्ट्र ने ही अपनी पत्नी गांधारी के परिवार वालो की मृत्यु करवाई थी.

परन्तु आखिर क्यों धृतराष्ट्र को अंधा होने का श्राप मिला तथा क्यों उन्होंने अपने ही पत्नी के परिवार को मारा था ? आइये जानते है धृतराष्ट्र से जुडी ऐसे ही कुछ रोचक बातो के बारे में.

इस श्राप के कारण धृतराष्ट्र जन्म से थे अंधे :-
अपने पूर्व जन्म में धृतराष्ट्र एक बहुत ही निर्दयी एवं क्रूर राजा थे. एक दिन जब वे अपने सैनिको के साथ राज्य भ्रमण को निकले तो उनकी नजर एक तालाब में अपने बच्चों के साथ आराम करते हंस पर पड़ी.

राजा ने तुरंत अपने सैनिको को आदेश दिया की उस हंस की आँखे निकाल ली जाए, सैनिको ने राजा की आज्ञा का पालन किया. दर्द से बिलखते उस हंस की आँखो को निकालकर राजा अपने सैनिको के साथ आगे बढ़ गया. उस हंस की असहनीय पीड़ा के कारण मृत्यु हो गए तथा उसके बच्चे भी मृत्यु को प्राप्त हुए .

ये भी पढ़े... मंगलवार को करें ये काम, बजरंग बली लगाएंगे बेड़ा पार !

परन्तु हंस ने मृत्यु से पहले राजा को श्राप दिया था की मेरी ही तरह एक तुम्हारी भी यही दुर्दशा होगी. इसी श्राप के कारण अगले जन्म में धृतराष्ट्र अंधे पैदा हुए तथा उनके पुत्र उसी तरह मृत्यु के प्राप्त हुए जिस तरह हंस के.

धृतराष्ट्र जन्म से थे अंधे :-

महाराज शांतुन तथा रानी सत्यवती के दो पुत्र थे विचित्रवीर्य और चित्रांगद. चित्रांगद कम आयु में ही एक युद्ध में शत्रु के हाथो मृत्यु को प्राप्त हुए थे तथा भीष्म पितामह ने विचित्रवीर्य का विवाह काशी के राजा की दो पुत्रियों अम्बिका और अम्बालिका से करवाया. परन्तु किसी बिमारी के कारण जल्द ही राजा विचित्रवीर्य भी गुजर गए.

अम्बिका और अम्बालिका संतानहीन थे ऐसे में महारानी सत्यवती के सामने यह समस्या उतपन्न हुई की आखिर कौरव वंश को आगे कैसे बढ़ाया जाए.

ये भी पढ़े... घर के मंदिर में कभी भी ना करें ये गलतिया !

अंत में सत्यवती ने मह्रिषी वेदव्यास से वंश को आगे बढ़ाने के लिए उपाय पूछा. तब वेदव्यास ने अपने दिव्य शक्तियों से अम्बिका और अम्बालिका की संताने उतपन्न करी थी. परन्तु जिस समय वेदव्यास अपनी शक्तियों का प्रयोग उन पर कर रहे थे उस समय डर के मारे अम्बिका ने अपनी आँखे बंद कर ली जिस कारण उनके पुत्र के रूप में धृतराष्ट्र अंधे पैदा हुए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *