जब महादेव शिव के इस अवतार ने भगवान नृसिंह को ही लपेट लिया अपने पूछ में, पुराणों की अनसुनी गाथा !

mahadev

देवो के देव महादेव शिव भगवान विष्णु को अपना आराध्य मानते है तथा स्वयं भगवान विष्णु भी शिव को अपने आराध्य के रूप में पूजते है.

भगवान विष्णु के अनेक अवतार है जिनमे उनका एक अवतार हिरण्याकश्यप भी सम्लित है.

परन्तु आज हम आपको को एक ऐसी कथा के बारे में बताने जा रहे जहां महादेव शिव के ही अवतार को भगवान विष्णु के साथ युद्ध करना पड़ता है

तथा इतना ही नहीं भगवान शिव का यह अवतार भगवान विष्णु को अपनी पुंछ में लपेटकर आकाश मार्ग में उड़ा ले जाता है.

लिंगपुराण में दी एक कथा के अनुसार पृथ्वीलोक में हिरण्याकश्यप के बढ़ते पाप को रोकने तथा अपने भक्त प्रह्लाद की रक्षा करने के लिए भगवान विष्णु को नृसिंह का अवतार लेना पड़ा.

ये भी पढ़े... मंगलवार को करें ये काम, बजरंग बली लगाएंगे बेड़ा पार !

नृसिंह अवतार में जब भगवान विष्णु खम्बा तोड़ कर प्रकट हुए तो उनके विशाल एवं क्रोधित रूप को देखकर सभी भयभीत हो गए. भगवान विष्णु ने हिरण्यकश्यप का वध कर उसके पापो का अंत किया पर इस पर भी उनका क्रोध शांत नहीं हुआ.

उनके क्रोध को शांत न होता देख सभी देव कैलाश पर्वत भगवान शिव के सम्मुख गए तथा उन्हें सारी बात विस्तार से बताई. देवताओ की बात सुन भगवान शिव ने अपने अंश भैरवरूपी वीरभद्र को आज्ञा दी की भगवान नरसिंह का क्रोध शांत करो.

ये भी पढ़े... घर के मंदिर में कभी भी ना करें ये गलतिया !

भगवान शिव की आज्ञा पाकर वीरभद्र नृसिंह के पास गए तथा उनके क्रोध को शांत करने के लिए वे उनकी वंदना करने लगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *