जाने मृत्यु से जुडा हैरान करने वाला एक अनोखा रहस्य, आखिर क्या सोचता है अपने अंतिम समय के कुछ मिनट पूर्व इंसान ?

मृत्यु के संबंध में हमारे मष्तिक में अनेक धारणाएं बनी हुई है तथा इसके संबंध में अनेको प्रसन्न हमारे दिमाग में उठते रहते है जैसे आखिर मृत्यु के बाद क्या होता है, मनुष्य की आत्मा कहा जाती है तथा पुनर्जन्म की स्थिति किन परिस्थियों में होती है.

अनेको वैज्ञानिक शोधों एवं पौराणिक ज्ञानो के बावजूद भी हम मृत्यु के संबंध में असमंजस में है. ये तो बात हुई मृत्यु के बाद की स्थिति की लेकिन मृत्यु के कुछ मिनट पहले भी हर किसी के मन में यह जिज्ञासा उतपन्न होती है की मरने वाला इंसान उस दौरान सोचता क्या है.

यदि विशेषज्ञों की बात करी जाए तो उनके अनुसार स्वर्गवासी होने वाला व्यक्ति मृत्यु के समय अधिकत्तर अपने बुरे एवं अच्छे कर्मो के फलों को याद करता है, मृत्यु से सिर्फ चंद मिनट पहले उसे अपने उन बुरे कर्मो की याद आती है जो उसने किसी दूसरे व्यक्ति के ऊपर किये होते है.

अस्प्ताल में नर्से अधिकतर अपने उस मरीज के पास रहती है जो व्यक्ति मृत्यु के समीप होता है, नर्सो के अनुभवों के अनुसार मृत्यु से पूर्व व्यक्ति शांत रहने का प्रयास करता है. तथा उस दौरान वह अपने दिल को बड़ा कर लेता है अर्थात वह हर किसी व्यक्ति के साथ वह बर्ताव करने लगता है जैसे किसी अपने सगे के साथ. वह अपने दिल की हर बात लोगो को बताने लगता है जो बात उसने अपने जिंदगी में अब तक छुपा के रखी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *