शाबर मंत्र सिद्धि | शाबर मंत्र साधना | हनुमान शाबर मंत्र | लक्ष्मी शाबर मंत्र | धन प्राप्ति शाबर मंत्र

shabar mantra siddhi, shabar mantra sadhana, hanuman shabar mantra, lakshmi shabar mantra

हनुमान शाबर मंत्र ,सिद्ध शाबर मंत्र, शाबर मंत्र प्रयोग, शाबर मंत्र सिद्धि रहस्य,शाबर मंत्र साधना,धन प्राप्ति शाबर मंत्र ,लक्ष्मी प्राप्ति शाबर मंत्र , शाबर मंत्र ,हनुमान को प्रसन्न करने के लिए शाबर मन्त्र

देहाती ग्रामीण भाषा में पाए जाने वाले मंत्र शाबर मंत्र कहलाते है. यह मंत्र आम बोल चाल की भाषा में होते हैं. शाबर मंत्रो  ( shabar mantra ) का निर्माण सिद्ध संत , महापुरुषों , सिद्ध साधको ने जन कल्याण के लिए की थी .

साबर मंत्र भारत की हर भाषा में पाए जाते है शक्तिशाली शाबर मंत्र पहले से ही शक्तियों से परिपूर्ण और सिद्ध होते हैं. इन मंत्रों के केवल उच्चारण मात्र से व्यक्ति के सारे कार्य सिद्ध हो जाते हैं. इन मंत्रों की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इन मंत्रों का प्रभाव स्थिर होता है इनकी काट निश्चित नहीं होती है.

शाबर मन्त्र ( shabar mantra )  की विशेषता :-

शाबर मन्त्र को बहुत ही शक्तिशाली एवम शीघ्र प्रभाव दिखने वाला मन्त्र माना गया है. हर प्रकार की तांत्रिक क्रिया की काट है शाबर मन्त्र, हर प्रकार की परेशनी शाबर मन्त्र के द्वारा दूर करी जा सकती है.

अन्य शास्त्रीय मंत्रो की तुलना में इस मन्त्र का उच्चारण करना थोड़ा कठिन होता, परन्तु इस अचूक मन्त्र के प्रभाव से व्यक्ति अपने किसी भी तरह के कार्य को सिद्ध कर सकता है.

शाबर मंत्रो को थोड़े से जाप द्वारा सिद्ध किया जा सकता है, तथा इनका शीघ्र लाभ देखने को मिलता है. सबसे महत्वपूर्ण चीज़ शाबर मन्त्र का कोई भी काट नहीं है अतः यह बहुत ही शक्तिशाली मन्त्र बताया गया है.

शाबर मन्त्र कब अपना प्रभाव नहीं दिखाता :-

1. यदि सभा में साबर मन्त्र बोल दिए जाये तो साबर मन्त्र अपना प्रभाव छोड़ देते है .
2. यदि किसी किताब से उठाकर मन्त्र जपना शुरू कर दे तो भी साबर मन्त्र अपना पूर्ण प्रभाव नहीं देते .
3. साबर मन्त्र अशुद्ध होते है इनके शब्दों का कोई अर्थ नहीं होता क्योंकि यह ग्रामीण भाषा में होते है यदि इन्हें शुद्ध कर दिया जाये तो यह अपना प्रभाव छोड़ देते है .
4. प्रदर्शन के लिए यदि इनका प्रयोग किया जाये तो यह अपना प्रभाव छोड़ देते है .
5. यदि केवल आजमाइश के लिए इन मंत्रो का जप किया जाये तो यह मन्त्र अपना पूर्ण प्रभाव नहीं देते .

लक्ष्मी प्राप्ति के लिए शाबर मन्त्र  :-

सिद्ध शाबर मंत्रो के जन्मदाता गुरु गोरखनाथ एवम आदि सिद्ध योगी मने जाते है. शाबर मंत्रो में अनेक दिव्य मंत्रो का वर्णन किया है जो बहुत है शक्तिशाली एवम शीघ्र प्रभावी है उन्ही शाबर मंत्रो में से एक है देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने वाला शाबर मन्त्र.

माता लक्ष्मी का यह शाबर मन्त्र बहुत ही दुर्लभ माना जाता है. क्योकि इस सरल मन्त्र को सिद्ध करना बहुत ही आसान है और दुसरा इस मन्त्र का विपरीत प्रभाव नहीं पड़ता.

आज हम आपको जो देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने हेतु उपयोग में लाये जाने वाले शाबर मन्त्र के बारे में बताने जा रहे है यदि उसका उपयोग शुभ मुहर्त पर किया जाए तो और अधिक प्रभावी माना जाता है.

मन्त्र- “ॐ नमः विष्णु-प्रियायै, ॐ नमः कामाक्षायै, ह्रीं ह्रीं ह्रीं क्रीं क्रीं क्रीं श्रीं श्रीं श्रीं फट् स्वाहा.”

प्रयोग विधि- ‘दीपावली’ की सन्ध्या को पाँच मिट्टी के दीपकों में गाय का घी डालकर रुई की बत्ती जलाए. ‘लक्ष्मी जी’ को दीप-दान करें और ‘मां कामाक्षा’ का ध्यान कर उक्त प्रार्थना करे. मन्त्र का 108 बार जप करे. ‘दीपक’ सारी रात जलाए रखे और स्वयं भी जागता रहे. नींद आने लगे, तो मन्त्र का जप करे.

प्रातःकाल दीपों के बुझ जाने के बाद उन्हें नए वस्त्र में बाँधकर ‘तिजोरी’ या ‘बक्से’ में रखे. इससे श्रीलक्ष्मीजी का उसमें वास हो जाएगा और धन-प्राप्ति होगी. प्रतिदिन सन्ध्या समय दीप जलाए और पाँच बार उक्त मन्त्र का जप करे.

हनुमान को प्रसन्न करने के लिए शाबर मन्त्र :-

हनुमानजी का शाबर मंत्र अत्यंत ही सिद्ध मंत्र है. इसके प्रयोग से हनुमानजी तुरंत ही आपके मन की बात सुन लेते हैं. इसका प्रयोग तभी करें जबकि यह सुनिश्चित हो कि आप पवित्र व्यक्ति हैं.

यह मंत्र आपके जीवन के सभी संकटों और कष्टों को तुरंत ही चमत्कारिक रूप से समाप्त करने की क्षमता रखता है. हनुमानजी के कई शाबर मंत्र हैं तथा अलग-अलग कार्यों के लिए हैं.

शाबर मंत्र :-
ॐ नमो बजर का कोठा,
जिस पर पिंड हमारा पेठा.
ईश्वर कुंजी ब्रह्म का ताला,
हमारे आठो आमो का जती हनुमंत रखवाला.

You May Also Like