सिर्फ एक नारियल का यह सरल चमत्कारी उपाय, आज तक नहीं गया है इसका प्रभाव निष्फल !

हर समस्या का समाधान,

हमारे हिन्दू धर्म एवं संस्कृति में नारियल का बहुत महत्व है. हमारे धर्म में नारियल को श्रीफल का दर्जा प्राप्त है इसके साथ ही नारियल को मंदिर में चढ्या जाता है तथा अनेक शुभ कार्यो में इस फोड़ा भी जाता है.

हिन्दू धर्म में वृक्षो के गुण और धर्म की अच्छी पहचान करके ही उसके महत्व को समझते हुए उसे धर्म से जोड़ा गया है. नारियल न केवल धर्मो के गुणों से ही सम्बन्धित है बल्कि इसमें कई औषधि गुण भी है.

नारियल को ऊर्जा का एक बहुत ही अच्छा स्रौत माना जाता है अतः कई जगहों तो इसे चटनी एवं सब्जी के रूप में भी ग्रहण किया जाता है. नारियल में केवल प्रोटीन एवं मिनिरल्स के आलावा हर पोष्टिक तत्व होते है. नारियल में पोटेशियम, विटामिन, केल्शियम आदि खनिज तत्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते है.

नारियल में वसा एवं केलोस्ट्रोल नहीं पाया जाता अतः यह मोटापे से निजात दिलाने में भी बहुत फायदेमंद होता है.

यही नहीं ज्योतिष अनुसार भी इसके अनेक उपाय है जिनके द्वारा आप अपने कई बिगड़े काम बना सकते है तथा घर में या आप पर आ रहे किसी भी प्रकार की बाधा को दूर कर सकते हो.

बिमारी अथवा संकट को दूर करने के लिए :-

एक पानी से भरा हुआ नारियल ले तथा इसे अपने ऊपर 21 बार वार ले यदि घर के सभी सदस्यो के ऊपर वार लेंगे तो और भी अधिक उत्तम रहेगा. इसके पश्चात उस नारियल को किसी देवस्थान में चढा दे.

ध्यान रखे की यह उपाय केवल मंगलवार एवं शनिवार को ही करे. इस उपाय को पांच दिन करना चाहिए. हर मंगलवार हनुमान मंदिर में जाकर हनुमान चालीसा का पाठ करे तथा उन्हें चोला चढाये.

यह उपाय कभी निष्फल नहीं गया अतः इसे एक बार अवश्य अपनाकर देखे.

स्थाई नोकरी हेतु :-

नारियल के छिलको को जलाकर उसका भष्म तैयार कर ले तथा उसमे नारियल का है पानी मिलाकर लुगदी बना ले. अब इन लुगदी को कागज की सात पुड़िया में डाल कर रख दे.

जिसमे से चार पुड़िया तो घर के चारो कोनो में रख दे तथा एक छत के ऊपर रख दे. बची हुई दो पूड़ियों में से एक पुड़िया पीपल के पेड़ के निचे रख दे तथा एक पुड़िया उस ऑफिस के कोने में रख दे जहां आप स्थाई नोकरी करना चाहते है.

परन्तु इस बात का अवश्य ध्यान रखे की कोई भी पुड़िया किसी के नजर पर नहीं आनी चाहिए सात दिन बाद उन पूड़ियों को उनकी जगह से हटा दे.

व्यापार के लाभ के लिए :-

कारोबार में लगातार घाटा हो रहा हो तो गुरुवार के दिन एक नारियल सवा मीटर पीले वस्त्र में लपेटकर एक जोड़ा जनेऊ, सवा पाव मिष्ठान्न के साथ आस-पास के किसी भी विष्णु मंदिर में अपने संकल्प के साथ चढ़ा दें. तत्काल ही व्यापार चल निकलेगा.

कर्ज से मुक्ति प्राप्ति के लिए :-

एक नारियल पर चमेली का तेल मिले सिन्दूर से स्वस्तिक का चिह्न बनाएं. कुछ भोग (लड्डू अथवा गुड़-चना) के साथ हनुमानजी के मंदिर में जाकर उनके चरणों में अर्पित करके ऋणमोचक मंगल स्तोत्र का पाठ करें. तत्काल लाभ प्राप्त होगा.

यह कर्ज मुक्ति से जुड़ा दुसरा उपाय इसे आप केवल शनिवार के ही दिन करेंगे तो यह विशेष लाभदायी रहेगा. शनिवार के दिन स्नान आदि से निमित होकर अपने नाप के अनुसार एक काला धागा ले तथा इसे एक नारियल में लपेट ले.

अब इस नारियल की पूजा करने के पश्चात किसी नदी में प्रवाहित कर दे. प्रवाहित करते समय मन में भगवान से कर्ज मुक्ति की प्राथना अवश्य करे.

आर्थिक स्थिति सुधारने अथवा धन प्राप्ति के लिए :-

यदि आप को ऐसा लग रहा हो की आपके घर रुपया आते है खर्च हो जा रहा हो या सेविंग नहीं हो पा रही हो तो परिवार आर्थिक संकट में घिर जाता है.

ऐसे में शुक्रवार के दिन माता लक्ष्मी के मंदिर में एक जटावाला नारियल, गुलाब, कमल पुष्प माला, सवा मीटर गुलाबी, सफेद कपड़ा, सवा पाव चमेली, दही, सफेद मिष्ठान्न एक जोड़ा जनेऊ के साथ माता को अर्पित करें.

इसके पश्चात मां की कपूर व देसी घी से आरती उतारें तथा श्रीकनकधारा स्तोत्र का जाप करें. आर्थिक समस्याओं से छुटकारा मिलेगा.

You May Also Like