इस तरह खुद जाने आखिर किस उम्र में होगा आपका भाग्योदय तथा कब होंगे आप अमीर !

हमारे हिन्दू धर्म के शास्त्र एवम ग्रन्थों में अनेक ऐसे महत्वपूर्ण ज्ञान छिपे हुए है जिनकी सही जानकारी होने पर व्यक्ति अपने जीवन को काफी हद तक परिवर्तित कर सकता है.

वह न केवल अपने भविष्य के बारे में जान सकता है बल्कि भविष्य में होने वाली कुछ घटाओ में भी परिवर्तन ला सकता है. हमारे प्राचीन शास्त्र एवम ग्रन्थ वास्तव में बहुत ही अमूल्य धरोहर है.

आज हम आपको हमारे प्राचीन एवम बहुमूल्य शास्त्र भृंगसंहिता में भविष्य से सम्बन्धित बतलाये गए कुछ महत्वपूर्ण विषय के सम्बन्ध में बताने जा रहे है की आखिर आप स्वयं कैसे ज्ञात कर सकते है की आपका भाग्योदय कब होगा.

कुंडली के जो बारह भाव होते है वे प्रत्येक बारह राशियों को प्रदर्शित करते है, कुंडली का प्रथम भाव अर्थात कुंडली के केन्द्र स्थान में जिस राशि का स्थान होता है वही राशि उस कुंडली का लग्न निर्धारित करती है. तथा लग्न के आधार पर ही कुण्डलिया बारह प्रकार की होती है.

आप अपने कुंडली के पहले भाव से खुद जाने की कब आपकी किस्मत चमकने वाली है.

मेष राशि :-

मेष राशि की कुंडली में जो लग्न है उसके आधार पर इस राशि के जातको का भाग्य 16 वर्ष की उम्र , 22 वर्ष की उम्र, 28 वर्ष की उम्र अथवा 32 वर्ष की उम्र में परिवर्तन होने के स्थिति कुंडली में बन रही है.

वृषभ राशि :-

जिन जातको की राशि राशि वृषभ ही उनकी कुंडली के लग्न के अनुसार उनका भाग्योदय 25 वर्ष, 28 वर्ष , 36 वर्ष तथा 42 वर्ष के अंतराल में हो सकता है.

मिथुन राशि :-

मिथुन राशि के जातको के कुंडली लग्न के अनुसार उनकी भाग्योदय वाली आयु है 22 वर्ष, 32 वर्ष , 35 वर्ष तथा 42 वर्ष है. इन वर्षो में मिथुन राशि के लोगो का भाग्योदय हो सकता है.

कर्क राशि :-

जिन लोगों की कुंडली कर्क लग्न की है, उनका भाग्योदय 16 वर्ष की आयु, 22 वर्ष की आयु, 24 वर्ष की आयु, 25 वर्ष की आयु, 28 वर्ष की आयु या 32 वर्ष की आयु में हो सकता है.

सिंह राशि :-

इन जातको के लोगो की कुंडली के अनुसार इनका भाग्योदय 16 वर्ष, 22 वर्ष, 24 वर्ष , 26 वर्ष तथा 32 वर्ष की आयु में हो सकता है.

कन्या राशि :-

कन्या राशि के कुंडली के लग्न के अनुसार इनके भाग्योदय होने का वर्ष है. 22 वर्ष, 26 वर्ष, 33 वर्ष ,35 वर्ष तथा 38 वर्ष.

तुला राशि :-

जिन व्यक्तियों की राशि तुला है उनकी कुंडली लग्न के अनुसार भाग्योदय होने का वर्ष है 24 . इसके साथ ही 34 वर्ष तथा 41 वर्ष की उम्र में भी व्यक्ति के भाग्योदय होने की सम्भावना बन रही है.

वृश्चिक राशि :-

वृश्चिक राशि के कुंडली लग्न के अनुसार इनके भाग्योदय होने की आयु है 18 वर्ष, 25 वर्ष तथा 34 वर्ष. इन वर्षो में व्यक्ति की किस्मत कभी भी अचानक परिवर्तित हो सकती है.

धनु राशि :-

धनु राशि के जातको की कुंडली लग्न के अनुसार इनके भाग्योदय होने की आयु है 16 वर्ष., 23 वर्ष, 33 वर्ष अथवा 42 वर्ष .

मकर राशि :-

मकर राशि के लोगो की कुंडली लग्न के अनुसार इनके भाग्योदय होने की आयु है 19 वर्ष, 33 वर्ष अथवा 35 वर्ष.

कुम्भ राशि :-

कुम्भ राशि के जातको की कुंडली लग्न के अनुसार उनके भाग्योदय का समय है 25 वर्ष, 28 वर्ष तथा 36 वर्ष.

मीन राशि :-

मीन राशि के जातको की कुंडली लग्न के अनुसार उनके भाग्योदय होने की आयु है 16 वर्ष, 22 वर्ष, 28 वर्ष अथवा 36 वर्ष की आयु में.

You May Also Like