माता के इस चमत्कारी मंदिर में साक्षात् दर्शन देती है माता, भक्तो की बड़ी से बड़ी बिमारी हो जाती है छूमंतर !

maa durga ke chamatkar, maa kali ke chamatkar, maa durga ke chamatkari mantra, mata ke chamatkar, mata ka chamatkari mandir, मंदिर का रहस्य

maa durga ke chamatkar, maa kali ke chamatkar, maa durga ke chamatkari mantra, mata ke chamatkar, mata ka chamatkari mandir, मंदिर का रहस्य

हमारा भारत चमत्कारों का देश कहलाता है, यहां पर अनेक दिव्य एवम चमत्कारी मंदिर है. इन दिव्य मंदिरो में अनेको चमत्कार एवम अद्भुत चीजे होती रहती है जो भक्तो को हैरानी में डाल देती है. इन मंदिरो से कई भक्तो की आस्थाए जुडी है.

ऐसी ही माता रानी का एक दुर्गा मंदिर है, जिसके बारे में कहा जाता है की इस मंदिर में साक्षात् दुर्गा माता का निवास है तथा मन्दिर में स्थापित माता के मूर्ति से दुर्गा माता बाहर निकलती है व आस पास विचरण करती है.

आइये जानते है कहा है माता का यह चमत्कारी मंदिर,

रानी दुर्गा का यह मंदिर छत्तीसगढ़ राज्य के चैतुरगढ़ नामक स्थान में पहाड़ियों पर बसा हुआ है. चैतुरगढ़ कोरबा के अंतर्गत पाली विकासखंड के घने जंगल व पहाड़ियों के बीच बसा हुआ स्थान है.

माता का यह मंदिर नागर शैली द्वारा बनाया गया है.

इस मंदिर में बारह भुजाओं वाली माता दुर्गा(mata durga) की महिषासुर मर्दिनी स्वरुप में मूर्ति स्थापित है. इस मंदिर में स्थापित यह अनोखी प्रतिमा ही इसे बेहद खास बनाती है. इस मंदिर की मूर्ति की आँखों में लगातार देखने से इसकी पलकों के झपकने का एहसास होता है.

मंदिर के पास मौजूद है प्राचीन किला.

कोरबा ज़िले से 90 किमी की दूरी पर स्थित इस अद्भुत जगह में चैतुरगढ़ का किला भी स्थापित है. यह किला कल्चुरी युग यानि 1069 शताब्दी का है. इस स्थान के राजा जाजल्व देव और विक्रमादित्य थे.

चैतुरगढ़ में 9वीं शताब्दी में विक्रमादित्य द्वितीय द्वारा बनवाया गया शिव मंदिर भी प्रसिद्ध है. वर्तमान समय में इन राजाओं का 5 वर्ग की.मी. में फैला यह किला खंडहर में तब्दील हो चुका है.

इस मंदिर की सीढ़ियां भी हैं बेहद खास. इस मंदिर में जाने के लिए खतरनाक रास्तों से होकर गुजरना पड़ता है. जंगल के बीचो-बीच बसे इस मंदिर में सीढ़ियों से चढ़कर जाना पड़ता है.

इन सीढ़ियों की खास बात यह है कि अगर माता रानी किसी को अपने मंदिर में प्रवेश नहीं देना चाहती, तो वह इंसान इन सीढियों से चढ़ नहीं पाता और मज़बूरी वश वापस लौट जाता है.

माता को विचरण करते हुए देखने का दावा है –

माता रानी के कई भक्तों की माने तो उन्होंने अपनी आंखों से माता रानी को विचरण करते हुए देखा है. हालांकि इस मंदिर के पूजारी और साधुओं के बारे में कहा जाता है कि वो लोग कोई मामूली इंसान नहीं है बल्कि अमीर घरों से ताल्लुक रखते हैं और इन्ही लोगों का कहना है कि उन्होंने माता रानी को मूर्ति से बाहर आकर विचरण करते हुए देखा है.

यह मंदिर जिस जगह पर बसा हुआ है, उसका जगह का नज़ारा भी दिव्य और अद्भुत है. मंदिर के पास कमल से भरा हुआ तालाब है साथ ही ऋषियों का आश्रम भी है.

आप भी माता दुर्गा के साक्षात दर्शन करना चाहते हैं, तो इस मंदिर में एक बार जरुर जाएं. क्योकि इस मंदिर की मूर्ति से हर रोज़ माता दुर्गा बाहर निकलती हैं.

अगर आपकी भक्ति सच्ची है, तो आपको भी माता दुर्गा के साक्षात दर्शन का सौभाग्य प्राप्त हो सकता है जो आपके जीवन को सफल बना देगा.

Read Also:

केवल सुबह के समय करे यह एक उपाय, धन से घर भर देंगी देवी लक्ष्मी !

You May Also Like