दिवाली में ऐसे करे देवी लक्ष्मी को प्रसन्न !

laxmi puja vidhi for diwali 2016, lakshmi puja diwali, diwali laxmi pooja, diwali lakshmi puja date, diwali lakshmi puja in hindi, diwali puja aarti, लक्ष्मी पूजन विधि, लक्ष्मी पूजा कैसे करे, लक्ष्मी गणेश पूजा विधि, लक्ष्मी पूजा मुहूर्त, लक्ष्मी पूजन का समय

laxmi puja vidhi for diwali 2016 दिवाली लक्ष्मी पूजा विधि :-

देवी लक्ष्मी laxmi puja vidhi  को धन की देवी माना जाता है, यदि उनकी कृपा किसी व्यक्ति पर हो गई उसकी सारी गरीबी दूर हो जाती है. माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए विशेषकर दिवाली का समय शास्त्रो के दृषिट से उपयुक्त माना गया है.

आज हम आपको बताने जा रहे है की कैसे आप देवी लक्ष्मी laxmi puja vidhi को प्रसन्न कर उनकी विशेष कृपा प्राप्त कर सकते है.

लक्ष्मी पूजा laxmi puja vidhi पारंपरिक और सांस्कृतिक अनुष्ठान है जो हर साल दीवाली के दौरान किया जाता है. लोगों घरों के अंदर के साथ साथ बाहर भी तेल और घी के बहुत से दीये जलाकर लक्ष्मी पूजा करते हैं.

उनका ऐसा विश्वास है कि सभी जगह दीये जलाने से देवी लक्ष्मी प्रसन्न होंगी और हमेशा के लिये उनके घर में आयेंगी.

लोग देवी लक्ष्मी की पूजा आशीर्वाद पाने और धन और स्वास्थ्य में धनी होने के लिये करते है. वे देवी लक्ष्मी को घर में प्रवेश कराने के लिये घर के प्रत्येक कोने को साफ करते है. उनका विश्वास है कि साफ-सफाई धन और खुशहाली लायेगी वहीं गन्दगी लोगो को आलसी और सुस्त बनायेगी.

लक्ष्मी पूजन का समय laxmi puja ka time

दिवाली उत्सव का तीसरा दिन बहुत महत्वपूर्ण और मुख्य दिवाली का दिन होता है, जब लोगों द्वारा लक्ष्मी पूजा की जाती है. पूरे वर्ष आशीर्वाद और धन प्राप्त करने के लिए वे इस पूजा को करने के लिए बहुत उत्सुक और समर्पित हैं. यह सबसे शुभ और चमत्कारिक दिन अमावस्या की अंधेरी रात को पडता है.

ये भी पढ़े... मंगलवार को करें ये काम, बजरंग बली लगाएंगे बेड़ा पार !

लोग धन्य हैं क्योंकि अंधेरी रात बीत गयी और प्रकाश की असंख्य किरणें (आशीर्वाद की वर्षा के रूप में) उनके जीवन में स्थायी रूप से आयेंगी.

लक्ष्मी पूजा laxmi puja vidhi के बाद, दीपक जलाने की रस्म सभी घरों, सड़कों, नीम के पेड़, और अन्य स्थानों पर भी शुरू कर दिया जाता है. हिंदू धर्म के अनुसार पूजा से पहले बिना किसी भी स्थान को छोडे पूरे घरों को साफ करना बहुत आवश्यक है.

यह माना जाता है कि धन की देवी पहले घर का मुआइना करेंगी तब आशीर्वाद की बारिश करेंगी. पूजा आम तौर पर हल्दी, कुमकुम और प्रसाद अर्पित करके की जाती है.

लक्ष्मी पूजा में पाँच हिंदू देवी-देवताओं की संयुक्त पूजा शामिल है

दिवाली पर लक्ष्मी पूजा में पाँच हिंदू देवी-देवताओं की एक संयुक्त पूजा शामिल है. हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार, यह माना जाता है कि सबसे पहली पूजा में भगवान गणेश (विघ्नेश्वर) की पूजा यह सुनिश्चित करने के लिये की जाती है कि पूजा पूरी हो गयी है. देवी लक्ष्मी laxmi puja vidhi के तीन रूप हैं जिनकी तदनुसार पूजा की जानी चाहिए.

तीन रूप महालक्ष्मी (धन, समृद्धि और धन की देवी के रूप में जाना जाता है), महासरस्वती (बुद्धि और ज्ञान की देवी के रूप में जाना जाता है), और महाकाली (समस्याओं हटानेवाली के रूप जानी जाती है) है. पांचवें हिंदू देवता भगवान कुबेर (देवताओं के कोषाध्यक्ष के रूप में जाना जाता है) है, जिनकी दीवाली पर पूजा की जाती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *