chhath puja ki vidhi in hindi-छठ पूजा की विधि एवम व्रत कथा !

chhath puja ki vidhi in hindi, chhath puja vidhi, chhat vrat katha, chhat pooja, chhath puja date 2016, chhath puja 2016 bihar, chhath puja ki vidhi, chhath puja samagri in hindi, importance of chhath puja in hindi, chhath puja images, chhath puja song, छठ पूजा की विधि, छठ पूजा 2016, छठ पूजा का महत्व, छठ पूजा का समापन

chhath puja ki vidhi in hindi, chhath puja vidhi, chhat vrat katha, chhat pooja, chhath puja date 2016, chhath puja 2016 bihar, chhath puja ki vidhi, chhath puja samagri in hindi, importance of chhath puja in hindi, chhath puja images, chhath puja song, छठ पूजा की विधि, छठ पूजा 2016, छठ पूजा का महत्व, छठ पूजा का समापन

chhath puja ki vidhi in hindi-छठ पूजा की विधि एवम व्रत कथा !

हिन्दू पंचांग के अनुसार छठ पूजा chhath puja ki vidhi का त्यौहार कार्तिक मॉस के शुक्ल पक्ष के चतुर्थी से सप्तमी तिथि तक मनाया जाता है. यह पर्व सूर्य देव chhath puja को समर्पित है तथा भक्तो का उनके प्रति अटूट ( छठ पूजा  ) आस्था को प्रदर्शित करता है.

भगवान सूर्य देव chhat pooja को आदित्य भी कहा जाता है यह एक प्रत्यक्ष देवता है जिनके दर्शन किये जा सकते है. सूर्य देव के रौशनी से ही पृथ्वी में प्रकृति का संचालन चालु है. इनके किरणों से इस धरती में प्राण संचार होता है व फल, फूल, अनाज, अंड एवम शुक्र का निर्माण होता है.

इस तिथि को सूर्य के साथ ही षष्ठी देवी की भी पूजा होती है chhath puja vidhi . पुराणों के अनुसार प्रकृति देवी के एक प्रधान अंश को ‘देवसेना’ कहते हैं; जो कि सबसे श्रेष्ठ ‘मातृका’ मानी गई है. ये लोक के समस्त बालकों की रक्षिका देवी है. प्रकृति का छठा अंश होने के कारण इनका एक नाम “षष्ठी” भी है.

ये भी पढ़े... मंगलवार को करें ये काम, बजरंग बली लगाएंगे बेड़ा पार !

षष्ठी देवी का पूजन – chhath puja songs प्रसार ब्रह्मवैवर्त पुराण के अनुसार राजा प्रियव्रत के काल से आरम्भ हुआ. जब षष्ठी देवी की पूजा ‘छठ मइया’ के रूप में प्रचलित हुई. वास्तव में सूर्य को अर्ध्य तथा षष्ठी देवी का पूजन एक ही तिथि को पड़ने के कारण दोनों का समन्वय भारतीय जनमानस में इस प्रकार को गया कि सूर्य पूजा और छठ पूजा में भेद करना मुश्किल है. वास्तव में ये दो अलग – अलग त्योहार हैं. सूर्य की षष्ठी को दोनों की ही पूजा होती है.

बिहार, झारखंड, उत्तरप्रदेश सहित सम्पूर्ण भारतवर्ष में बेहद धूमधाम और हर्सोल्लास पूर्वक मनाया जाने वाला छठ पर्व साल 2016 में 04 नवंबर से 07 नवंबर तक मनाया जाएगा. छठ व्रत की मुख्य तिथियां निम्न हैं:

chhath puja date

04 नवंबर 2016: खाए नहाय
05 नवंबर 2016: खरना
06 नवंबर 2016: शाम का अर्घ्य
07 नवंबर 2016: सुबह का अर्घ्य, सूर्य छठ व्रत का समापन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *