यदि कुंडली में हे मंगल दोष तो यह है उसका सर्वोत्तम उपाय | mangal dosh nivaran upay in hindi

mangal dosh nivaran upay in hindi manglik person means manglik dosh solution mangal dosh in kundali how to remove manglik dosh manglik dosh solution for boy what happens if a manglik marries a non manglik mangal dosh nivaran puja mangal dosh nivaran after marriage

manglik person means, manglik dosh solution, mangal dosh in kundali, how to remove manglik dosh, manglik dosh solution for boy, what happens if a manglik marries a non manglik, mangal dosh nivaran puja, mangal dosh nivaran after marriage, manglik meaning in hindi, manglik person nature, manglik and non manglik marriage, manglik person marriage age, manglik person behaviour, manglik meaning in tamil, manglik meaning in telugu, low mangal dosha means

mangal dosh nivaran upay in hindi

manglik person means, manglik dosh solution, mangal dosh in kundali, how to remove manglik dosh, manglik dosh solution for boy, what happens if a manglik marries a non manglik, mangal dosh nivaran puja, mangal dosh nivaran after marriage, manglik meaning in hindi, manglik person nature, manglik and non manglik marriage, manglik person marriage age, manglik person behaviour, manglik meaning in tamil, manglik meaning in telugu, low mangal dosha means
दोस्तों आज हम आपको mangal dosh nivaran upay के बारे में बताने जा रहे है. ज्योतिष विज्ञान में बतलाया गया है की मंगल ग्रह दोष से मिलने वाली पीड़ा अथवा बढ़ा को दूर करने के लिए मंगलवार का व्रत बहुत ही उपयोगी माना जाता है. भागदौड़ भरी इस दुनिया में लोग धार्मिक उपायो को अपनाने में असमर्थ हो जाते है तथा ढोंगी बाबा आदि का सहारा लेने लगते है. अतः यहां मंगवार से जुड़े कुछ ऐसे उपाय बताने जा रहे है जो आपकी मंगल दोष एवम उससे जुडी सभी समस्या को दूर कर देंगे.

mangal dosh nivaran ke achuk upay

अगर आपकी कुंडली में मंगल उच्च का और शभु हो तो मंगलवार के दिन हनुमान मंदिर में बताशे चढाये और बहते जल अथवा नदी में बहा दे. इस उपाय को करने से मंगल दोष से बचाव होता है. जब आप घर से बाहर निकले तो भिखारियों को मीठी रोटी अवश्य खिलाये .
बरगद के पेड़ की जड़ तथा मिटटी में मीठी दूध मिलाकर उसका थोड़ा सा सेवन करे इससे मंगल दोष से उतपन्न हुई पेट के दर्द में आपको फायदा मिलेगा.
रेवड़ी, तिल तथा शक्कर बहते जल में डालने से mangal dosh से बने अशुभ और मारक योग से आप बच सकते है.
कुंडली के चौथे भाव में मंगल का बैठा होना सास दादी अथवा माँ को बीमार बना देता है. परिवार में दरिद्रता, अशुभता लेन के साथ ही वह सन्तान के विवाह आदि में भी बाधा डालता है. इसके लिए परिवार के सभी सदस्यो के कुँए के जल से दातुन करना चाहिए.
मंगल ग्रह के कारण अग्नि भय उतपन्न होता है. इसके लिए आप देशी शक्कर को अपने घर के छत के ऊपर भिखेर दे अग्नि भय ख़त्म हो जाएगा.
अगर कुण्डली में mangal dosh ka nivaran ग्रहों के मेल से नहीं होता है तो व्रत और अनुष्ठान द्वारा इसका उपचार करना चाहिए. मंगला गौरी और वट सावित्री का व्रत सौभाग्य प्रदान करने वाला है. अगर जाने अनजाने मंगली कन्या का विवाह इस दोष से रहित वर से होता है तो दोष निवारण हेतु इस व्रत का अनुष्ठान करना लाभदायी होता है.

जिस कन्या की कुण्डली में मंगल दोष होता है वह अगर विवाह से पूर्व गुप्त रूप से घट से अथवा पीपल के वृक्ष से विवाह करले फिर मंगल दोष से रहित वर से शादी करे तो दोष नहीं लगता है. प्राण प्रतिष्ठित विष्णु प्रतिमा से विवाह के पश्चात अगर कन्या विवाह करती है तब भी इस दोष का परिहार हो जाता है.

mangal dosh nivaran ke liye vart vidhi

मंगलवार के व्रत रखे तथा सिंदूर से हनुमान जी की पूजा करे इस बाद हनुमान चालीसा का 108 पाठ करे. ऐसा करने से मंगल दोष शांत होता है. कार्तिकेय जी की पूजा से भी इस दोष में लाभ मिलता है.
महामृत्युंजय मन्त्र का जप सर्व बाधा का नाश करने वाला होता है, इस मन्त्र से मंगल गृह की शांति काने से भी वैवाहिक जीवन में mangal dosh ka prbhav कम होता है. लाल वस्त्र में मसूर दाल, रक्त चंदन, रक्त पुष्प, मिष्टान एवं द्रव्य लपेट कर नदी में प्रवाहित करने से मंगल अमंगल दूर होता है.

mangal ko kare ye upay honge malamal
mangal or shani ki yuti he hor dosh nivaran ka upay
mangal dosh dur karne ke liye hanuman aradhana in hindi


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *