पित्र दोष निवारण के अचूक उपाय | pitra dosh nivaran in hindi

pitra dosh effects pitra dosh in lal kitab pitra dosh upay by pawan sinha pitra dosh nivaran temples pitra dosh nivaran mantra free download pitra dosh nivaran stotra pdf totka for pitra dosha pitra dosh upay by pawan sinha in hindi पित्र दोष क्या है पित्र दोष के लक्षण पित्र दोष क्या है इसका निवारण कैसे करे पितर दोष पित्र दोष पूजा पित्र दोष क्या है इसका निवारण कैसे करें पितृ दोष निवारण मंत्र पितृदोष निवारण

pitra dosh effects, pitra dosh in lal kitab, pitra dosh upay by pawan sinha, pitra dosh nivaran temples, pitra dosh nivaran mantra free download, pitra dosh nivaran stotra pdf, totka for pitra dosha, pitra dosh upay by pawan sinha in hindi, पित्र दोष क्या है, पित्र दोष के लक्षण, पित्र दोष क्या है इसका निवारण कैसे करे, पितर दोष, पित्र दोष पूजा, पित्र दोष क्या है इसका निवारण कैसे करें, पितृ दोष निवारण मंत्र, पितृदोष निवारण

pitra dosh nivaran in hindi पित्र दोष निवारण इन हिंदी

pitra dosh effects, pitra dosh in lal kitab, pitra dosh upay by pawan sinha, pitra dosh nivaran temples, pitra dosh nivaran mantra free download, pitra dosh nivaran stotra pdf, totka for pitra dosha, pitra dosh upay by pawan sinha in hindi, पित्र दोष क्या है, पित्र दोष के लक्षण, पित्र दोष क्या है इसका निवारण कैसे करे, पितर दोष, पित्र दोष पूजा, पित्र दोष क्या है इसका निवारण कैसे करें, पितृ दोष निवारण मंत्र, पितृदोष निवारण
हमारे हिन्दू धर्म में वर्ष भर में एक बार अपने पितरो को याद pitra dosh nivaran in hindi करने के उपलक्ष्य में श्राद्ध की व्यवस्था की गई है. श्राद्ध का वास्तविक अर्थ व्यक्ति द्वारा अपने पितरो के लिए की गई श्रद्धा से है. यदि किसी व्यक्ति के कुंडली में पितृ दोष हो तो उस व्यक्ति के लिए भी श्राद्ध पक्ष का समय काफी मूल्यवान होता है.
ऐसा इसलिए क्योकि श्राद्ध के इन 16 दिनों में किये गए कार्यो के आधार पर व्यक्ति अपने पितृ दोष से मुक्ति प्राप्त कर सकता है.जो व्यक्ति श्राद्ध पक्ष में अपने पितरो का श्राद्ध नहीं करते उन्हें निम्नलिखित समस्याओ से होकर गुजरना पड़ता है.

पित्र दोष के कारण आने वाली समस्याएं pitra dosh ke karn utppan smasya

जिन व्यक्ति के कुंडली में पित्र दोष होता है उनके घर में सन्तान पैदा नहीं होती है. अगर ऐसे घर में सन्तान पैदा हो भी जाती है तो वह अधिक समय तक जीवित नहीं रहती है.
ऐसे दोषो वाले व्यक्ति के घर में सदैव धन की कमी होती है और हर बार किसी न किसी रूप धन की हानि होती है.
अगर कोई व्यक्ति बगेर किसी  pitra dosh nivaran in hindi कारण कोर्ट के चक्कर में उलझा रहता है तो इसका भी मुख्य कारण ज्योतिष में पित्र दोष को ही माना गया है.
जिस के कुंडली में पित्र दोष होता है उनके घर में सदैव संकट छाया रहता है. इसके साथ परिवार में किसी न किसी कारण मनमुटाव बना रहता है.

पित्र दोष निवारण के उपाय pitra dosh nivaran in hindi

1 . यदि कोई व्यक्ति जिसकी आय सामान्य हो तो वह अपने पितरो को तृप्त करने के लिए केवल एक ब्राह्मण को भोजन करा सकता है.
2 . यदि कोई गरीब व्यक्ति चाहते हुए भी धन की कमी के कारण अपने पित्र के श्राद्ध को करने में असमर्थ हो तो वह किसी पवित्र नदी से थोड़ा जल लाकर उसमे काले pitra dosh nivaran in hindi तिल डालकर तर्पण कर सकता है. इससे भी कुंडली के पित्र दोष में कमी आती है.
3. विद्वान ब्राह्मण को एक मुट्ठी काले तिल दान करने मात्र से भी पितृ प्रसन्न हो जाते हैं।
4. अगर कोई व्यक्ति ऊपर बताए गए उपायों को करने में भी किसी कारणवश कठिनाई महसूस करे तो वह पितरों को याद कर गाय को चारा खिला दे। इससे भी पितृ प्रसन्न हो जाते हैं।
5. इतना भी संभव न हो तो सूर्यदेव को हाथ जोड़कर प्रार्थना करें कि मैं श्राद्ध के लिए जरूरी धन और साधन न होने से पितरों का श्राद्ध करने में असमर्थ हूं। इसलिए आप pitra dosh nivaran in hindi मेरे पितरों तक मेरा भावनाओं और प्रेम से भरा प्रणाम पहुंचाएं और उन्हें तृप्त करें।

 


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *