राहु दोष से सम्बन्धित हर समस्या का है ये अचूक उपाय | rahu ke upay in hindi

राहु से बचने के उपाय राहु दोष निवारण राहु की महादशा के उपाय राहु के प्रभाव राहु के उपाय लाल किताब राहु को प्रसन्न करने के उपाय राहु की दशा राहु मंत्र जाप राहु को प्रसन्न करने के उपाय


rahu ke upay in hindi

कैसे देते है राहु और केतु फल

राहु या केतु दोनों हर हर स्थिति में फल देने में सक्षम नहीं होते है बल्कि ये जिस समय में राशि अथवा ग्रह के साथ युति समंध में होते है उसी के अनुसार फल प्रदान करते है. यानि यदि राहु अथवा केतु बुध के साथ बैठेंगे अथवा कन्या या मिथुन राशियों पर अकेले बैठेंगे तो इनमें इन राशियों व युति संबंध वाले ग्रहों के प्रभाव भी शामिल हो जाएंगे।

शुभ फल प्रदान करने वाला राहु

यदि राहु तीसरे, छठे अथवा ग्याहरवे भाव में मौजूद होता है वह शुभ फल प्रदान करता है. तीसरे भाव में स्थित राहु पराक्रम में आशातीत बढ़ोत्तरी कर देता है। ऐसा राहु छोटे भाई को भी बहुत मजबूती देता है। यदि इस भाव में बैठे राहु को मित्र या शुभ ग्रहों की दृष्टि प्राप्त हो अथवा वह स्वयं उच्च या उच्चाभिलाषी हो तो अतिशय मात्रा में शुभ फलों की प्राप्ति होती है।

राहु से बचने के उपाय, राहु दोष निवारण, राहु की महादशा के उपाय, राहु के प्रभाव, राहु के उपाय लाल किताब, राहु को प्रसन्न करने के उपाय, राहु की दशा, राहु मंत्र जाप, राहु को प्रसन्न करने के उपाय, राहु की महादशा के उपाय, राहु और केतु, राहु का प्रभाव, राहु की दशा, राहु ग्रह, राहु मंत्र, राहु के उपाय लाल किताब
छठे भाव में राहु का प्रभाव

छठे भाव में मजबूत स्थिति में बैठा राहु शत्रु व रोग नाशक बन जाता है। यदि छ्ठे स्थान पर शुक्र अथवा गुरु आदि शुभ ग्रहों की दृष्टि हो या इस स्थान पर शुक्र व राहु की युति हो तो ऐसी दशा में विशिष्ट शुभ फल प्राप्त होते हैं। ऐसी दशा वाले जातक के शत्रु या तो होते नहीं और यदि होते हैं तो हार कर समर्पण कर देते हैं। यही नहीं ऐसा जातक शारीरिक रूप से काफी हृष्ट-पुष्ट होता है तथा बीमारी आदि समस्याएं उससे कोसों दूर होती हैं।

एकादश स्थान पर राहु का प्रभाव

एकादश स्थान पर मजबूत होकर बैठा राहु भी शुभता का द्योतक है। इस स्थिति में संबंधित जातक को व्यापार-उद्योग, सट्टा-लॉटरी, शेयर बाज़ार आदि में एकाएक भारी मात्रा में लाभ प्राप्त होता है। ऐसा जातक शत्रु नाशक तो होता ही है साथ ही जीवनोव्यापार में भी सफल रहता है।

राहु से बचने के उपाय, राहु दोष निवारण, राहु की महादशा के उपाय, राहु के प्रभाव, राहु के उपाय लाल किताब, राहु को प्रसन्न करने के उपाय, राहु की दशा, राहु मंत्र जाप, राहु को प्रसन्न करने के उपाय, राहु की महादशा के उपाय, राहु और केतु, राहु का प्रभाव, राहु की दशा, राहु ग्रह, राहु मंत्र, राहु के उपाय लाल किताब
यदि राहु अशुभ कुंडली में बैठा हो तो राहु का उपाय

आइए अब जानते हैं कि यदि राहु कुण्डली में अशुभ स्थिति में बैठा हो तो क्या उपाय किए जाएं ताकि भावी या चल रही समस्याओं का निराकरण हो सके:

1. ॐ रां राहवे नमः प्रतिदिन एक माला जपें।

2. नौ रत्ती का गोमेद पंचधातु अथवा लोहे की अंगूठी में जड़वा लें। शनिवार को राहु के बीज मन्त्र द्वारा अंगूठी अभिमंत्रित करके दाएं हाथ की मध्यमा अंगुली में धारण कर लें।

राहु बीज मन्त्र: ॐ भ्रां भ्रीं भ्रौं स: राहवे नम: (108 बार)

3. दुर्गा चालीसा का पाठ करें।

4. पक्षियों को प्रतिदिन बाजरा खिलाएं।

5. सप्तधान्य का दान समय-समय पर करते रहें।

6. एक नारियल ग्यारह साबुत बादाम काले वस्त्र में बांधकर बहते जल में प्रवाहित करें।

7. शिवलिंग पर जलाभिषेक करें।

8. अपने घर के नैऋत्य कोण में पीले रंग के फूल अवश्य लगाएं।

9. तामसिक आहार व मदिरापान बिल्कुल न करें।

10. ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चे। ॐ ग्लौ हुं क्लीं जूं सः ज्वालय ज्वालय ज्वल ज्वल प्रज्वल प्रज्वल, ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चे ज्वल हं सं लं क्षं फट् स्वाहा।।

इस मंत्र को विशुद्ध उच्चारण के साथ तेज स्वर में पूरी राहु की दशा के दौरान कीजिए।

राहु से बचने के उपाय, राहु दोष निवारण, राहु की महादशा के उपाय, राहु के प्रभाव, राहु के उपाय लाल किताब, राहु को प्रसन्न करने के उपाय, राहु की दशा, राहु मंत्र जाप, राहु को प्रसन्न करने के उपाय, राहु की महादशा के उपाय, राहु और केतु, राहु का प्रभाव, राहु की दशा, राहु ग्रह, राहु मंत्र, राहु के उपाय लाल किताब

ध्यान रहे कि राहु की वक्र दृष्टि या अशुभ स्थिति इंसान को संकटापन्न कर देती है। विवेक-बुद्धि का ह्रास हो जाता है तथा ऐसी दशा में जातक निरुपाय रह जाता है। इसलिए वह स्वयं प्रयत्नहीन होकर उल्टे-बेढंगे निर्णय लेने लगता है। यहां पर पीड़ित जातक के बंधु-बांधवों को चाहिए कि यथाशक्ति उसे अवलंबन प्रदान करें तथा राहु की अशुभ दशा के आरंभ के पूर्व ही उससे बचने और निवारण के उपाय शुरू करवा दें.

jane rahu dosh se nivaran ke hanuman chalisa ka upay 

shani dosh ke upay

mangal dosh ke upay


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *