अप्रैल अंतिम हफ्ते की ख़ास तारिक ना गवाए ये दिन वरना पड़ेगा पछताना


akshaya tritiya 2017 in hindi:

हिन्दू धर्म में अक्षय तृतीया बहुत ही महत्वपूर्ण है जो इस बार 28 अप्रैल को मनाई जाएगी. इस दिन भगवान् की प्रार्थना करके हम अपने जीवन की समसयाओ से मुक्ति पा सकते है. आज हम आपको बताएँगे अक्षय तृतीया के बारे में कुछ ऐसी अनसुनी बाते जो हर इंसान को जानना बेहद जरुरी है

१) हिन्दू थर्म के अनुसार यह माना जाता है महाभारत के समय जब पांडव अपने वनवास में थे तो भगवान सूर्य देव ने उन्हें एक कटोरा उपहार के रूप में दिया जिसका नाम “अक्षय पात्र” (akshaya patra) था। वह कटोरा कभी खाली नहीं होता था और जब चाहे मांगने पर असीमित भोजन का उत्पादन करता था। इसलिए यह दिन साल का सबसे सुन्हेरा दिन माना जाता हैं अगर इस दिन आप कोई भी नया काम शुरू करेंगे तोः वो काम कभी विफल नहीं होगा

२) हिन्दू वेदो में यह माना गया है कि पवित्र नदी “गंगे” या “माँ गंगा” अक्षय तृतीया(akshaya tritiya 2017) पर पृथ्वी पर उत्तरी थी तभी आप देखते होंगे की इस दिन पुरे भारत में लोग गंगा नदी में डुबकी लगाते हैं और अपने सारे पाप और बुरे कामो की क्षमा याचना करते हैं .

३) वैष् वंश के लोगो का मानना है कि अक्षया तृतीया(akshaya tritiya) के दिन भगवान विष्णु के छटे अवतार “परशुराम” का जन्म हुआ था जो एक नए युग का आरम्भ था जिसे त्रेता युग भी कहते हैं

४) यह भी माना जाता हैं की संसार के चार युगो में से दूसरा युग त्रेता युग भी “अक्षया तृतीया“(akshya tritiya) के इस पावन दिन से शुरू हुआ था जिसमे भगवान विष्णु ने अपने तीन अवतार लिए थे जिसमे पहला अवतार “वामन”, दूसरा “परशुराम” और तीसरा “रमा ” हुए थे

५) माना जाता है कि सूर्य और चंद्रमा इस दिन पर चमक के अपने चरम बिंदु पर होते हैं। जो एक सुबह संकेत का प्रतीक हैं जिसे आप घंटो तक निहार सकते हैं और एक अतबुद्ध पल का आनंद ले सकते हैं आशा करता हूँ हमारी ये ५ बाते आपको जान कर आनंद आया होगा और इन्हे आप अपने मित्रो के साथ भी साझा करेंगे! धन्यवाद


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *