अक्षय तृतीया के दिन करे ये काम, भाग्य होगा हज़ार गुना प्रबल -akshaya tritiya significance

significance of Akshaya tritya

दोस्तों अक्षय तृतीया हम हर साल मानते हैं और इस 28/April/2017 को इसे पुरे भारत वर्ष में मनाया जायगा लेकिन क्या आप जानते हैं “हम इसे क्यू मानते हैं?”और  “इसका का क्या महत्व हैं ?” शायद ही आज की जनरेशन जानती होगी तो चलिए आज हम आपके साथ कुछ जानकारी शेयर करते हैं?

Read this also- जाने अक्षय तृतीया पर घर में  लाये  कोंसी 4 चीजे 

दोस्तों हमारे हिन्दू ग्रंथो के अनुसार इश दिन से त्रेता युग आरंभ हुआ था.विष्णु पुराण में कहा गया हैं की जो व्यक्ति ये व्रत करता हैं वह सब तीर्थो का फल पा जाता है

भगवान श्री कृष्ण ने कहा हैं – इस दिन स्नान,जप ,तप ,होम और दान जो कुछ भी किया जाता हैं वह सुब अक्षय हों जाता हैं इसलिए इसे “अक्षय तृतीया” के नाम से जाना जाता हैं

दोस्तों भविष्य पुराण  में कहा  गया हैं इस व्रत के करने से हमे पुण्य मिलता हैं और स्वर्ग लोक की प्राप्ति होती हैं और इस दिन आप अपने पितरो के पिंड भी दान कर सकते हैं जिससे  वह अक्षय हों जाए मतलब सफल हों जाये

दोस्तों अगर आप इस व्रत का अथिक से अथिक फल पाना चाहते हैं तो जिस दिन ये व्रत सोमवार ,रोहिणी ,कृतिका नक्षत्र से युक्त हों तो इस घडी में इसका फल सबसे ज्यादा मिलता हैं

दोस्तों आप को एक रोचक बात बताता हूँ क्या आप जानते हैं की भगवान बद्रीनाथ के कपाट भी इस दिन खुलते हैं और भगवान् पशुराम और  माता गंगा ने इस दिन धरती पर जन्म लिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *