पूजा करते समय भूल कर भी जमीन पर ना रखे ये चीज़ें


पुजा”क्या हैं? pooja kya hain?

पूजा या पूजन एक प्रार्थना अनुष्ठान है जो हिंदू द्वारा एक या अधिक देवताओं की मेजबानी, सम्मान और पूजा करने के लिए किया जाता है, या एक आध्यात्मिक रूप का जश्न हैं।

“पुजा”” शब्द का मतलब ? pooja ka matlab?

शब्द “पुजा” संस्कृत से आता है, और इसका मतलब सम्मान, श्रद्धांजलि, आराधना और पूजा है। पूजा अनुष्ठान बौद्ध, जैन और सिखों द्वारा भी आयोजित किया जाता है।

“पुजा” कब -२ की जाती हैं ? pooja kab-kab ki jaati hain?

हिंदू धर्म में पूजा विभिन्न अवसरों, आवृत्ति और सेटिंग्स पर किया जाता है। इसमें घर पर किए गए दैनिक पूजा, कभी-कभी मंदिर समारोहों और वार्षिक त्यौहारों को शामिल किया जा सकता है, कुछ जीवनकाल की घटनाओं जैसे कि बच्चे का जन्म या शादी, या एक नया उद्यम शुरू करने के लिए भी पूजा की जाती हैं

“पुजा” करते समय क्या न करे ? pooja karte samye kya na kare?

१)पूजा करते समय हमे कुछ विशेष बातो का ध्यान रखना चहिये जैसे की पूजा करते समय आप का सारा ध्यान प्रभु की आराधना में लीं हों अगर पूजा में उपस्थित लोग ऐसे नहीं करेंगे तो पूजा का लाभ किसी को नहीं होगा

२)पूजा करते समय कुछ वस्तु कभी भी निचे नहीं रखे जैसे की आरती का दीया, शालिग्राम, देवी-देवताओं की मूर्तियां, पहना जाने वाला जनेऊ, शंख आदि।

३) अगर पूजा किसी विशेष आदमी क लिए हों तो उसका पूजा में न होना,देवी-देवताओं को नाराज कर सकता हैं इसलिए हर इंसान का होना बेहद अनिवार्य हैं जिनके लिए पूजा रखी गयी हों


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *