करे ये 5 उपाए ,घर की तुलसी बढेगी रातो-रात !

tulsi plant care in hindi,

tulsi plant care in hindi

तुलसी या पवित्र ‘तुलसी’ कहा जाता हैं भारत के लिए एक औषधीय जड़ी- बूटी निवासी है। यह बारहमासी TULSI PLANT घर के लिए मसालेदार, ताज़ा खुशबू और छोटे फूलों से सुगंदित करता हैं है। यह ठन्डे जलवायु क्षेत्रों (यूएसडीए क्षेत्रों 10-11) में एक वार्षिक है। यह एक सीधा, कई-शाखायुक्त (सुबशरुब) 30-60 सेमी लंबे बालों वाले तनों के साथ और (पिल्लोटाक्सिक) हरे या बैंगनी पत्तियों से वातावरण को सुगंधित कर देता हैं तुलसी के 100 से अधिक विभिन्न किस्में हैं। तुलसी राम, कृष्ण और Vana तुलसी भारत में व्यापक रूप से पाए जाते हैं।

tulsi plant care OR how to keep tulsi plant healthy ?

 

 

तुलसी के पोधे को लगाने का सबसे उत्तम समय हैं या कह सकते हैं BEST DAY TO PLANT TULSI  वसंत हैं अगर आप देर से वसंत में या गर्मियों की शुरुआत में भूमि पर बीज बोय्गे , जब तापमान लगभग 21 डिग्री सेल्सियस हों | वसंत के आरंभ के लिए, एक ग्रीन हाउस में या घर के अंदर एक तेज धूप वाली खिड़की के पास बीज बोये ।

मिट्टी के शीर्ष पर तुलसी के बीज रखें और अच्छी पैदावार के लिए के बीज के साथ खाद या मिट्टी से 1 सेमी परत को कवर करे ।

अब बिज बोने के बाद बात आती हैं तुलसी के प्लांट को कहा रखे या अंग्रेजी में बोले तो WHERE TO PLACE TULSI AT HOME ? बीज को हरोज स्प्रेयर के साथ पानी दे और TULSI को घर के  उस हिस्सा में रखें जहा तुलसी को सुबह सूरज की धुप प्राप्त हों और जहा 1-2 सप्ताह तक इसे नम रखे जो की अंकुरण के लिए अच्छा हैं ,

जब ये पत्तियों के दो या तीन सेट में बड़े हो जाए वा अच्छी जल निकासी के साथ एक चिकनी उपजाऊ बलुई मिट्टी ले ( जिसका पीएच 7.5 से 6 में हों ) तब भूमि पर या अलग बर्तन में अंकुर प्रत्यारोपणन करे ,।

तुलसी पूर्ण सूर्य में पनपती हैं लेकिन आंशिक छाया में भी बढ़ती है, एक दिन में सूर्य के प्रकाश में कम से कम चार घंटे रखे ।

लेकिन इतना करने के बाद भी दोस्तों मन में प्रसन आता हैं की HOW TO KEEP TULSI PLANT HEALTHY ?तो इसके लिए जब ऊपरी मिट्टी की एक इंच सूखी हों तो तुरंत पानी दे.

और पौधे की सबसे ऊपर चुटकी करे जब ये मोटाई में उग रहा हो ज्यादा उगाने के लिए पत्तियों के चार या छह जोड़े गठन करले । इसके अलावा फूलों की कलियों को हटादे जब ये प्रदर्शित होने लग जाए ।

विल्टेड पत्ते निकालदे क्योंकी ये नए पत्ते के विकास को प्रोत्साहित करते हैं और यह TULSI PLANT CARE या तुलसी को  स्वस्थ  रखने का उत्तम उपाय  हैं ।

संतुलित उर्वरक हर सप्ताह में दो बार डाला करें।

ग्यारह महीने या एक साल में ,खाद के साथ मिट्टी को शीर्ष से 5 सेमी तक परत बदलें।

छँटाई करते समय ध्यान रखे की ये पौधे की लम्बाई के आधे की तुलना से अधिक न हों और ऐसा करने से इसका कॉम्पैक्ट विकास होगा ।

तुलसी के पौधा को घर के अंदर सर्दियों में ले जाएँ और एक तेज धूप आने वाली खिड़की के पास रखें।

कुछ सामान्य स्थितियों में जब कीट हमला करते हैं तो हम सोचते हैं HOW TO SAVE TULSI PLANT FROM INSECTS , तो इसके लिए हम  कीटनाशकों का इस्तेमाल भी कर सकते है।

तुलसी लागने के बाद एक सवाल ये भी मन में आता हैं की तुलसी को विकसित करने के लिए छटाई कब करे और अंग्रेजी में बोले तो how to grow tulsi plant from cuttings? तो मैं बता दु, तुलसी बढ़ने वाले मौसम के दौरान पौधे की पत्तियों को काट सकते हैं ।

तुलसी फसल को भविष्य में उपयोग के लिए स्टोर करे पत्ते सूखने तक  ( शाखाओं को इकट्ठा कर हर दिन सूरज की रोशनी में रखे जब तक ये सूखी ना हो जाए है और जब कुचल तो पत्ते गिर जाए चुरा होंगे )।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *