vastu tips for home in hindi

vastu tips for home in hindi,

basic vastu for home

कहावत है जहां दिल होता हैं वही घर होता है … और यह हम सभी के लिए सच भी है। कभी -कभी एक लंबा दिन या जल्दी सुबह के अंत में , हम अपने घर पर होने के लिए तत्पर होते हैं। किसी भी व्यक्ति का घर उसके लिए उसके परिवार के साथ आराम, सांत्वना और अच्छी यादें वाला होता है। क्योंकि हमारा घर हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है इसलिए हम हमेशा बुरी नजर या आसपास की नकारात्मक ऊर्जा से अपने घर को हमेशा दूर रखना चाहते हैं।

बुरे वास्तु शास्त्र के साथ एक घर में नकारात्मकता आती है और इससे  मानसिक, शारीरिक ,परिवार और कैरियर से संबंधित समस्याओं का  विभिन्न प्रकार के कारण बनते  है। लेकिन  वास्तु दोष और उपाय का पालन करने  से आपकी  मदद हों सकती  हैं और  आसानी से लोग इन समस्याओं से छुटकारा पा  सकते  हैं ।

आज, हम आपको कुछ महत्वपूर्ण वास्तु सुझावों या कहिये  ghar ka vastu kaisa hona chahiye बताएगे और जिन्हें  अपने खुद के घर में आपको  पालन करना चाहिए । ये निम्नलिखित सुझावों के बाद, आप एक परिवर्तन देखने के लिए बाध्य हों  जाये  ।

vastu for home entrance/वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का मुख्य द्वार

आपकी किस्मत आपके लिए किस तरह से बदलती है, इस लेख से आपको ज्ञात हों सकता है। दरवाजे और खिड़कियां हवा के लिए या लोगों को प्रवेश करने के लिए ही नहीं हैं लेकिन vastu tips for doors and windows के वैज्ञानिक तर्क के अनुसार -यह भी सकारात्मक और नकारात्मक ऊर्जा के लिए प्रवेश द्वार हैं जो घर में आती हैं। यदि कोई खड़किया गलत दिशा में गलत तरीके से डिज़ाइन की गई है, तो यह नकारात्मक ऊर्जा के लिए आने के लिए रास्ता बना सकती है और निवासियों के लिए दुर्घटना का कारण बन सकती है। इसके विपरीत, यदि दरवाजे और खिड़कियां सही दिशा में बनाई गई हैं, तो इससे समृद्धि और भाग्य में बहुत बढ़ोतरी हों सकती हैं। अधिक vastu for home entrance के लिए लिंक पर क्लिक करे.

 

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का रंग/vastu colors for home exterior walls

vastu colors for home exterior walls कहता हैं रंग मानव मन और शरीर को प्रभावित करने के लिए जाना जाता है। रंगों में हमे खुश और दुखी करने की क्षमता होती हैं और साथ -ही -साथ हमारे स्वास्थ्य और खुशी में एक बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है।

घर की आंतरिक दीवारों के रंग को जितना महत्व दिया जाता हैं उतना ही बाहरी दीवारों के रंगो को भी दिया जाना महत्वपूर्ण है। आधुनिक दिनों में “वास्तु” घर बनाने के लिए बहुत लोकप्रिय हो रहा है। वास्तु हमें विश्व धरती, जल, वायु, अग्नि और अंतरिक्ष के पांच तत्वों का सर्वोत्तम उपयोग करना सिखाता है। यह हमारे जीवन में इन तत्वों के प्रभाव को संतुलित करता है। ये वैज्ञानिक रूप से मानव जाति के स्वास्थ्य, समृद्धि और धन लाने के लिए उपयोगी है। वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का रंग के बारे में अधिक जानने के लिए लिंक पर क्लिक करे.

वास्तु शास्त्र के अनुसार शौचालय/vastu shastra tips for bathroom and toilet

आम तौर पर बाथरूम और शौचालय घर में सबसे उपेक्षित स्थान है, जिसके बारे में कोई परवाह नहीं करता है। लेकिन इनके स्थान का चुनाव करते वक्त ध्यान देने की भी जरूरत है क्योंकि वे घर में नकारात्मक ऊर्जा का प्रमुख स्रोत हैं। आदर्श रूप से बाथरूम और शौचालय का निर्माण अलग-अलग किया जाना चाहिए। लेकिन आजकल स्थान की कमी के कारण ये एक दूसरे के साथ संलग्न रूप (attached)में बनाया जाता हैं। इसे ध्यान में रखते हुए हमने आपके सपनों के घर के लिए बाथरूम और शौचालय के वास्तु के बारे में कुछ सुझावों का सारांश दिया है। वास्तु शास्त्र के अनुसार शौचालय के बारे में अधिक जानने के लिए लिंक पर क्लिक करे!

vastu bedroom

क्या आप जानते हैं वास्तु शास्त्र के अनुसार शयनकक्ष का निर्माण व डिज़ाइन करते समय कुछ मह्त्वपूर्ण बातो पर विचार करना चाहिए जैसे की स्थान ,दिशा ,बिस्तर ,रंगो का चुनाव ,दरवाजे ,खिडकिया और वास्तु -शास्त्र के अनुसार ये भी जरुरी हैं की कोनसी चीज कहाँ होनी चाहिए. तो चलिए अब हम कुछ वास्तु -शास्त्रों के नियमो का अध्यन करेंगे जो हमे अपने शयनकक्ष के लिए अपनानी चाहिए! vastu bedroom के बारे में अधिक जानने के लिए लिंक पर क्लिक करे.

Vastu tips for your living room

लिविंग रूम या ड्राइंग रूम आम – बोलचाल में अपेक्षाकृत एक नया शब्द है। vastu tips for living room in hindi के अनुसार इस कमरे को आम तौर पर बैठक कमरे या लाउंज के रूप में संबोधित किया जाता है और आम तौर पर विश्राम और मनोरंजन के लिए घर के मालिक और उनके परिवार के सदस्यों द्वारा उपयोग किया जाता है लिविंग रूम या ड्राइंग रूम एक बहु -कार्यण कमरा है और अन्य गतिविधियों जैसे कि टीवी देखना, किताबें पढ़ना, परिवार के सदस्यों के साथ गपशप करना, बच्चों के साथ समय व्यतीत करना, पीने, खाने और कई और अधिक आरामदायक गतिविधियों के लिए भी उपयोग किया जाता है।

लिविंग रूम के लिए वास्तु एक पद्धतिगत ज्ञान है जो हमारे द्रष्टाओं द्वारा हमें प्रदान किया है। इस प्रणाली द्वारा निर्धारित सिद्धांतों को चतुराई से सुंदर आधुनिक दिन के कमरे बनाने और डिजाइन करने में शामिल किया जा सकता है जो हमारे जीवन को स्वस्थ और अधिक-सार्थक बना सकते हैं। लिविंग रूम घर का एक महत्वपूर्ण घटक है, जो निवास के लिए घर अनुकूल या प्रतिकूल बनाता है। यह उस घर का वह हिस्सा है जहां सदस्य बहुत समय बिताते हैं और जो मेहमानों के मनोरंजन के लिए भी प्रयोग किया जाता है। Vastu tips for your living room के बारे में अधिक जानने के लिए लिंक पर क्लिक करे.

Vastu tips for kitchen

आपने कभी-ना-कभी टी.वि ,रेडियो ,न्यूज़ पेपर आदि में वास्तु शास्त्र ( vastu Shastra )टिप्स पर कोई न कोई अद्वेर्तिस्मेंट (advertisment) और आर्टिकल(article) देखा होगा.लेकिन काफी लोग उसे फॉलो नहीं कर पाते या फिर वास्तु टिप्स बजट में न होने के कारण उसे नहीं करते.इस समस्या का निवारण करते हुए आज हम आपके लिए कुछ ऐसी 10 -वास्तु टिप्स लेकर आये हैं जो आपके बजट में भी होगी और आप उसे फॉलो भी आसानी से कर सकते हैं

दोस्तों वास्तु शास्त्र में रसोई घर को घर की आत्मा माना जाता हैं अगर हमारे घर की आत्मा में ही दोष होगा तो घर के सदस्य भला कैसे खुश रह पायगे तो इसलिए हमारे रसोई घर एक छोटे-से बर्तन से लेकर गैस स्टोव तक (gas stove) सबका वास्तु -शास्त्र में अपना – अपना महत्व हैं! vastu tips for kitchen के बारे में अधिक जानने के लिए लिंक पर क्लिक करे !

bachchon ke kamre ka vastu

वास्तु शास्त्र, भारत का प्राचीन वास्तुशिल्प अभ्यास, रसोई घर से गेराज से लेकर बच्चों के कमरे तक, घर के प्रत्येक पहलू को शामिल करता है अगर बच्चों के कमरे के बारे में बात करे तो,As per vastu for children’s room- वास्तु के अनुसार अपने बच्चों के कमरे को ऐसा डिजाइन करना चाहिए जिससे कि पूरे कमरे का माहौल आपके बच्चे के विकास, मानसिक और भौतिक दोनों के लिए योगदान करे ! इसलिए, चाहे बच्चों के कमरे में बच्चों के कमरे का स्थान हों या बच्चों के कमरे में फर्नीचर की नियुक्ति की बात हों , वस्तू के सुझाव और दिशानिर्देश प्रत्येक और हर कदम पर पालन किए जाने चाहिए। कुछ महत्वपूर्ण दिशानिर्देशों का भी नीचे उल्लिखित किया गया है। जिन्हे जानने के लिए यहाँ पर क्लिक करे.

vastu mandir

वास्तु के अनुसार, पूजा कक्ष को सावधानी से तैयार करना चाहिए ताकि आप पूजा से ध्यान और सकारात्मक ऊर्जा प्राप्त कर सकें और महसूस कर सके । वास्तु मंदिर के बारे में अधिक जानने के लिए लिंक पर क्लिक करे.

Vastu tips for Almirah

लोकर या तिजोरी का इस्तमाल कीमती सामन जैसे धन,गहने और मुल्येवान चीजो को रखने के लिए किया जाता हैं लोकर या तिजोरी दिशा ,धातु ,स्थान और रंग वास्तु के अनुसार(vastu tips) होना चाहिये अन्यथा लोकर या तिजोरी में रखा धन बडने की बजाये घटना शरू हों जाता हैं अतः घर या दुकान में लोकर या तिजोरी रखते समय कुछ बात का पालन जरुर करे जैसे :-

लोकर या तिजोरी दक्षिण की और ना खुले :लोकर या तिजोरी का मुख कभी भी दक्षिण की और नहीं होना चाहिए(vastu almirah direction) क्योंकी वास्तु के अनुसार(vastu tips) दक्षिण में खुलने वाली अलमारिया या लोकर हमेशा खाली ही रहती हैं वास्तु टिप्स फॉर ालमिरह के लिए अधिक जानने के लिए यहां क्लिक करे !

vastu tips for scenery

हम सभी भारतीय अपने घर को सुन्दर वा अच्छा बनाने के लिए कुछ न कुछ प्रयोग करते ही रहते हैं किसी-ना-किसी तरह की सजावट हम सबके घर में की जाती हैं इनमे एक बड़ा हिस्सा होता हैं तस्वीरों का!लेकिन ऐसे में हम यह बिलकुल भूल जाते हैं की कोंसी तस्वीरे हमारे लिए घर में वास्तु-शास्त्रा के अनुसार (vastu tips for scenery) लगानी अच्छी हैं और कोंसी का बहुत बुरा परभाव पड़ेगा?

वास्तु-शास्त्रा और ज्योतिष के अनुसार कुछ तस्वीरे (vastu tips for scenery)ऐसी हैं जो हमारे घर में दुर्भाग्य लाती हैं,बनते हुए काम रोक देती हैं वा धन का आगमन तो रोक ही देती हैं और जिनका परभाव घर में रहने वाले लोगो पर बेहद बुरा पड़ता हैं अगर यह निमंलिखित तस्वीरे आपके घर के किसी भी हिस्से में लगी हैं तो तुरन्त हटाये जिससे की आपके काम बनाने लग जाए और धन का आगमन शरू हों जाए!

तो आइये हम आपको बताये की किस प्रकार की 6 तस्वीरे जो आपको अपने घर में वास्तु-शास्त्रा के अनुसार (vastu tips for scenery) नहीं लगानी चाहिये! vastu tips for scenery के बारे में अधिक जानने के लिए यहां क्लिक करे.

vastu for lighting lamps

आजकल रौशनी( lighting ) घर की सजावट का एक प्रमुख हिस्सा है बन गया हैं vastu for lighting lamps के अनुसार आपके घर के हर एक कमरे के लिए उचित रौशनी ( lighting ) जरुरी हैं यदि घर में रौशनी ( lighting ) की व्यवस्था उचित न हों तो ये घर में असंतुलन की स्थिति उत्पन कर कर सकता हैं वास्तु -शास्त्र ने इसे 3 भागो में बाटा हैं :-

* (general lighting system )आम रौशनी वाली व्यवस्था : यह रोशनी पुरे घर को रोशन करने के लिए होती हैं
*( accent lights ) एक्सेंट रौशनी: यह रोशनी आमतोर पर
* (task lights ) कार्य रौशनी : जैसा की नाम से ही पता चल रहा यह रौशनी किसी विशेष कार्य को करने के लिए की जाती हैं

जब वास्तु -शास्त्र की बात आती हैं तो vastu for lighting lamps कहता हैं की रोशनी घर में एक विशेष भूमिका निभाती हैं इसलिए आपको निचे दिए गए वास्तु टिप्स का सावथानी-पूर्वक पालन करना चाहिए! इसके बारे में अधिक जानने के लिए यहां क्लिक करे !

vastu-tips-for-dustbin

दोस्तों वास्तु (vastu)शास्त्र के अनुसार डस्ट- बिन से भी वास्तु दोष उत्त्पन हों सकता हैं इसलिए ये जानना बेहद जरुरी हों जाता हैं की डस्टबिन के लिए कोनसी दिशा और दशा होनी चाहिए ! इसके बारे में अधिक जानने के लिए यहां क्लिक करे !

 

 


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *