जानिये आप की मृत्यु कब और कैसे होगी ?

aap ki mrityu kab aur kaise hogi, maut ke sket, mrityu ke karan,

aap ki mrityu kab aur kaise hogi,

जन्म और मृत्यु  जीवन की सबसे बडा सच है हमारे जनम से पहेले ही हमारी मृत्यु का समय तय हो जाता है  गुरुड़ पुराण में इंसान के अच्छे या बुरे कर्मो को ही उसका मृत्यु का कारण (mrityu ke karan) बताया गया हैं.इस पुराण में बताई गयी बातो से बड़ी आसानी से समझा जा सकता हैं. की कौन व्यक्ति,कैसे मर सकता हैं?आज हम आपको बताने जा रहे हैं. मृत्यु से सम्भंदित 3 मह्त्वपूर्ण बाते:-

जो लोग सच बोलते हैं.भगवान् में आस्था रखते हैं.विधि-विधानुसार धर्म का पालन करते हैं.विश्वास तोड़ने वाले नहीं होते.किसी का दिल नहीं दुखाते.उनकी मृत्यु सुखद होती हैं. बिना किसी कष्ट के वो स्वर्गलोक चलेजाते हैं.

जो लोग दुसरो को मोह का उपदेश देते हैं.लोगो के बिच अविधा और तनाव की भावना फैलाते हैं.लालच और स्वार्थ की भावना को बढ़ावा देते हैं.उनको आपने अंतिम दिनों में बहुत शारीरिक कष्ट का सामना करना पड़ता हैं.और मृत्यु से पहले बड़ी पीड़ा भोगनी पड़ती हैं.

झूट बोलने वाले व्यक्ति,भरोसा तोड़ने वाला इंसान,शास्त्र -वेदो की बुराई करने वाले लोगो की सबसे ज्यादा दुर्गति होती हैं.इन्हे लेने भयानक यम दूत आते हैं.अंतिम वक्त में उनकी आँखे घूमने लगती हैं.मुँह सुख जाता हैं.और सांसे बढ़ने लगती हैं.ऐसे लोग अपने परिवार को दुःख देने के साथ-साथ,ऐसे सभी कष्टों से दुरूखी हों कर प्राण त्यागते हैं.

कुछ सकेतो से आप जान सकते है कि आपकी मौत कब होगी और कैसे होगी |

१) ऐसा माना जाता है कि यदि किसी आदमी पर अचानक नीली मखिया घेरने लगे तो उसकी मौत 1 माह के आदर हो सकती है|

२) किसी आदमी का रंग यदि नीला या लाल हो जाए तो उसकी मौत 6 माह में हो सकती है |

३)

 

 

You May Also Like