इस गुड़ी पड़वा बनाये स्वादिष्ट मीठे पकवान

चैत्र शुक्ल की प्रतिपदा यानि नवरात्र के पहले दिन हिंदी नवसंवत्सर की शुरुवात होती हैं, इसी दिन महाराष्ट्र में गुड़ी पड़वा त्यौहार मनाया जाता हैं .गुड़ी पड़वा के दिन महाराष्ट्र में घरो की साफ़ सफाई कर रंगोली बनाई जाती हैं , और घर के बाहर या छत पर गुड़ी बनाकर सजाई जाती हैं.इस दिन घरों में विशेष मीठे पकवान(gudi padwa recipes) बनाये जाते हैं, जिसमे आज हम मोदक और साबूदाना वड़ा बनाने की विधि अपने पाठको के लिए बता रहे हैं .

सबसे पहले बताएँगे गणेश जी को विशेष प्रिय मोदक बनाने की विधि.

 

Modak Kaise Banaye  मोदक कैसे बनाये

 

मोदक बनाने के लिए आवश्यक सामग्री :

चावल का आटा – 2 कप
गुड़ – 4 कप
कच्चे नारियल – 2 कप
काजू – 4 चम्मच
किशमिश – 2-3 चम्मच
इलाइची – 5 – 6 चम्मच
घी – 1  बड़ा चम्मच
नमक – 1 आधा  चम्मच

 

ये है मोदक बनाने की विधि-
गुड़ और नारियल को कढ़ाही में डाल कर गरम करे , और चम्मच से हिलाते रहें। जब तक गुड़ और नारियल का गाढ़ा मिश्रण न बन जाए। मिश्रण बनने के बाद में उसमे काजू, किशमिश,और इलाइची मिला दें। इस मिश्रण को मोदक में भरने के लिए रख दे .

अब 2 कप पानी में 1 छोटी चम्मच घी डाल कर गरम होने के लिए रख दे,जैसे ही पानी उबलने लगे, गैस बन्द कर दीजिये और चावल का आटा और नमक डाल कर चम्मच से हिला दे और इसे मिला दे अब इस मिश्रण को 5 मिनट के लिए ढक कर रख दें।

अब चावल के आटे को बड़े बर्तन में निकाल कर आता गूंध ले. आटा यदि कढ़ा हो तो थोड़ा सा पानी मिलाकर गूंधकर नरम कर ले. एक प्याली में थोड़ा घी लेकर ,घी हाथों में लगाकर आटे को तब तक मसलें जब तक आटा नरम न हो जाए। अब इस आटे को साफ कपड़े से ढक कर रख दें।

हाथ को घी से चिकना करें और गूंथे हुए चावल के आटे से एक नीबू के बराबर आटा निकाल कर हथेली पर रखें। दूसरे हाथ के अंगूठे और उंगलियों से उसे किनारे पतला करते हुए बढ़ा लें। उंगलियों से थोड़ा गड्डा करें और इसमें 1 छोटी चम्मच पिठ्ठी रख दें। अंगूठे और उंगलियों की सहायता से मोदक को किनारे से मोड़ देते हुए ऊपर की तरफ चोटी का आकार देते हुए बन्द कर दें। सारे मोदक इसी तरह तैयार कर लें।

किसी चौड़े बर्तन में 2 छोटे गिलास पानी डाल कर गरम होने के लिए रखें। जाली स्टैन्ड लगाकर चलनी में मोदक रख कर भाप में 10-12 मिनट तक पकने दे । जब मोदक चमकदार लगने लगे, तब ये खाने के तैयार हैं। मोदक को प्लेट में निकाल कर रखें और परोसे .

 

Gulab Jamun Banane Ki Vidhi  गुलाब जामुन बनाने की विधि

gudi padwa recipes

मावा या खोया -300 ग्राम
शक़्कर या चीनी -600 ग्राम
मैदा – 50 ग्राम
काजू -1 बड़ा चम्मच
पिस्ता – 1 बड़ा चमच्च
खाने वाला सोडा – 1/2 चम्मच
इलायची पाउडर -1/2 चम्मच
घी – तलने के लिये।

गुलाब जामुन बनाने के लिए एक बड़े बर्तन में मैदा ,खोया और इलायची पाउडर को मिलाकर नरम गूंध ले .गीले सूती कपडे से ढककर रख दे .
चाशनी के लिए एक बड़े बर्तन में दो कप पानी डालकर चीनी मिलकर हिलाते रहे, 10-15 मिनट के बाद एक चम्मच में चाशनी की बुँदे निकलकर उसे दो ऊगली के बीच में चिपकाकर देखे अगर एक तार बन रहा हैं तो इसका मतलब चाशनी बन गयी

अब खोया मिश्रण से थोड़ा मिश्रण लेकर हाथ में चपटा ले अब इसमें काजू पिश्ता के टुडे रखकर बंद कर दे , और इसी तरह से बाकि के मिश्रण से भी गोले तैयार कर दे , और कढ़ाई में घी डालकर घी गरम करे , घी गरम होने पर उसमे गुलाब जामुन के गोले डालकर तल ले , जब गुलाब जामुन भूरे रंग के दिखने लगे तो इन्हे कढ़ाई से उतार कर ठंडा कर दे फिर इन्हे चाशनी में डाल दे 10-15 मिनट के बाद इन्हे प्लेट में  परोसे |

यह भी पढ़े!   Significance of Gudi Padwa, गुड़ी पड़वा का महत्व 

You May Also Like