लाल किताब के चार जादुई उपाय | lal kitab ke gharelu upay

lal kitab ke gharelu upay

लाल किताब के सिद्ध टोटके, लाल किताब के वशीकरण टोटके, लाल किताब राशिफल, लाल किताब के सभी उपाय, लाल किताब कुंडली, लाल किताब अमृत, काली किताब, लाल किताब राशिफल 2017, lal kitab kundli in hindi, lal kitab upay for money, lal kitab amrit, original lal kitab in hindi, lal kitab ke chamatkari totke in hindi, lal kitab upay for job, lal kitab free download in hindi pdf, lal kitab remedies for marriage

Lal kitab ke gharelu upay

दोस्तों लाल किताब के अधिकतर उपाय तांत्रिक क्रिया के होते परन्तु lal kitab में कुछ gharelu upay भी बतलाये गए है जो अचूक एवम तुरंत प्रभाव में आने वाले होते है. अगर व्यक्ति द्वार इन उपायो को श्रद्धा के साथ किया जाए तो व्यक्ति सभी दुःख नष्ट होकर शीघ्र ही सोभाग्य में परिवर्तित हो जाते है. आइये जाने लाल किताब के इन अचूक एवम घरेलु उपाय को

Sobhagy me vridhi ke liye lal kitab ke gharelu upay

शनिवार के दिन किसी निकट के शनि मंदिर में जाकर भिखारि यों को भोजन अथवा वस्त्र दान में. हो सके तो अपने पैरो में पहनने वाले चप्पल आप उन्हें अवश्य दान करे. तथा इसके साथ ही अपने घर में पक्षियों के पानी पिने वाला परिंडा बांधे.

lal kitab ke  totke अनुसार प्रत्येक दिन कम से कम एक रुपया आप जनकल्याण के लिए खर्च करे. उत्तम रहेगा की आप एक गुल्लक बना ले तथा उसमे हर एक रुपया डाले तथा महीने के आखरी दिन उस गुल्लक के रूपये को जरूरतमंदों को दान कर दे. यह उपाय नक्षत्रो को आपके अनुकूल बनाएगा तथा आप कभी भी धन सम्बन्धित समस्या से नहीं गुजरेंगे.

Lal kitab ke gharelu upay

विशेष तोर पर जब आप पे शनि देव की दशा चल रही हो तो मांस तथा हिंसा से दुरी बना कर रखे क्योकि यह आपको खतरे में डाल देगा.

जब भी आप घर से बाहर निकले तो अपने पास के मंदिर में हाथ जोड़ते हुए अवश्य निकले. यह आपको पुरे दिन अनिष्ट होने से बचाये रखेगा.

मंगलवार के दिन इस हनुमान मन्त्र का एक माला जाप अवश्य करे, इससे आपके हर बिगड़े काम बनेंगे.

“नाम पाहरु दिवस निसि ध्यान तुम्हार कपाट।
लोचन निज पद जंत्रित जाहिं प्रान केहि बाट।।”

लाल किताब के अनुसार यदि कई बार अनेक ऐसी घटना हो चुकी हो जिससे आपको लगा हो की मृत्यु आपके बिलकुल पास से होकर गुजरी हो तो आपको लिए यह उपाय बहुत काम की है. यदि कोई व्यक्ति किसी रोग से पीड़ित हो तो उसके लिए भी यह उपाय बहुत ही कारगर सिद्ध हो सकता है. महामृत्युंजय पाठ का सवा लाख जप वाला अनुष्ठान करवाये इससे आपकी अकाल मृत्यु एवम रोग से सम्बन्धित समस्या सदा के लिए दूर हो जायेगी.

 

You May Also Like