2018 Good Friday And Easter Celebration

ईसाई धर्म के प्रवर्तक ईसा मसीह का जन्म आज से 4 ईसा पूर्व हुआ था .(Good Friday)ईसा मसीह युसूफ और मरियम के बेटे थे, ईसामसीह का जन्म येरुशलम में एक अस्तबल में( हुआ था.धीरे धीरे बड़े होने पर ईसामसीह का ध्यान संसार से ईश्वर की और लगने लगा 30 वर्ष की अवस्था में जान नामक महात्मा ने उन्हें ज्ञान दिया और वे सत्य के प्रचार में लग गए , वे लोगो को उपदेश देते की सब मिलकर रहा करो दुसरो मनुष्यो से प्रेम किया करो, ईश्वर की आराधना किया करो.(Good Friday on 30 March)

ऐसा करते करते उनकी लोकप्रियता बढ़ने लगी तो लोगो को उनसे ईर्ष्या होने लगी.उन लोगो ने येरुशलम के शासक को ईसामसीह के विरुद्ध भड़काया और कहा की ईसा धर्म और राज्य के विरुद्ध जनता को संगठित कर रहे हैं. ईसा मसीह को सूली पर लटकाने की सजा दे दी गयी, अपनी मृत्यु के समय भी ईसा मसीह प्रार्थना कर रहे थे हे ईश्वर इन्हे माफ़ कर दे ये नहीं जानते की ये क्या कर रहे हैं.

 

Good Friday गुड़ फ्राइडे

लोगो में प्रेम और विश्वास पैदा करने वाले यीशु को गुड़ फ्राइडे(Good Friday And Significance) के ही दिन सूली पर लटका दिया था. गुड़ फ्राइडे के ही दिन यीशु को याद किया जाता हैं और उनके उपदेशो को पढ़ा जाता हैं. ईसाई प्रवर्तक यीशु के बताये हुए मार्ग पर चलने का संकल्प लेते हैं,,आज के दिन यीशु को सूली पर लटकाया जाने की वजह से कही कही पर रात में काले कपडे पहनकर शोक प्रकट करते हुए पदयात्रा की जाती हैं .

ईसाई प्रवर्तकों में आज का दिन बहुत महत्वपूर्ण होता हैं , क्योकि गुड़ फ्राइडे का दिन यीशु के त्याग और बलिदान को याद करने का दिन हैं. गुड़ फ्राइडे के दिन चर्च में घंटिया नहीं बजायी जाती हैं,बल्कि लकड़ी से आवाज की जाती हैं . ईसाई प्रवर्तक प्रभु यीशु द्वारा क्रास पर सहे गए कष्ट को याद करते हैं .ईसाई प्रवर्तक गुड़ फ्राइडे( good Friday) के दिन चंदा और दान देते हैं.

Good Friday in India गुड़ फ्राइडे इन इंडिया

गुड़ फ्राइडे(Good Friday) के दिन भारत में राजकीय अवकाश होता हैं , ईसाई धर्म मानने वाले यीशु को याद करते हैं, और उनके उपदेशो को पढते हैं , कुछ ईसाई आज के दिन व्रत भी रखते हैं और मांस का परहेज रखते हैं . गुड़ फ्राइडे(Good Friday and Easter day and date In India)) का दिन शोक का दिन होता हैं , चर्च में दिन के समय सेवाएं शुरू होती हैं , .राष्ट्रीय , राज्य के सरकारी ऑफिस , बैंक, पोस्ट ऑफिस में आज के दिन अवकाश होता हैं .(Good Friday in India)

ईसाई प्रवर्तकों में आज का दिन बहुत महत्वपूर्ण होता हैं , क्योकि गुड़ फ्राइडे का दिन यीशु के त्याग और बलिदान को याद करने का दिन हैं.

 

Why Called It Good Friday

हम इसे कहते तो गुड फ्राइडे हैं लेकिन क्यों (why called it good Friday), गुड़ फ्राइडे के दिन ही तो प्रभु यीशु यातनाये सहते हुए सूली पर चढ़ गए थे . और उन्होंने अपने प्राण त्याग दिए थे .फिर भी हम इसे कहते गुड फ्राइडे . प्रभु यीशु ने हम सबकी भलाई के लिए अपने प्राणो का बलिदान दे दिया था , वह दिन शुक्रवार का था , मानव जाति को कष्टों से बचाने किये , पापो से मुक्त करने यीशु ने शक्रवार के दिन ही अपने प्राणो का त्याग कर दिया इसलिए शुक्रवार को गुड़ यनि गुड फ्राइडे (Good Friday)कहा जाता हैं.

 

Easter Festival( 1st April)

good friday
ईस्टर प्रतीक हैं प्रभु यीशु के दुबारा जी उठने का(Good Friday and Easter) ,इसलिए ईस्टर त्यौहार को बहुत धूमधाम तरीके से मनाया जाता हैं ईस्टर( 1st April 2018 )में अंडे का बहुत महत्व हैं , अंडे को एक शुभ प्रतीक मानकर इसका प्रयोग उपहार देने में और भी अन्य तरीके इसका उपयोग किया जा हैं इस दिन लोग एक दूसरे को गिफ्ट्स , चॉकलेट , और अन्य उपहार देते हैं. इस दिन चर्च को खूब सजाया जता हैं , लोग डांस करते हैं और गीत गाते हैं , पार्टी सेलिब्रेशन होता हैं जिसमे पारम्परिक लोकप्रिय लंच और डिनर होता हैं.भारत में भी ईस्टर की बहुत धूम होती हैं.

You May Also Like