जब भी जाएं महाराष्ट्र भीमशंकर ज्योतिर्लिंग के दर्शन जरूर करे !!!!

bhimashankar temple timings, bhimashankar temple steps, bhimashankar temple photos, bhimashankar hotels, places to visit near bhimashankar, bhimashankar from mumbai, bhimashankar images, pune to bhimashankar bus,

भीमा शंकर मंदिर(bhimashankar temple) पुणे से 110 किलोमीटर दूर उत्तर पश्चिम दिशा में सह्याद्रि पर्वत पर स्थित है .भीमा शंकर मंदिर भगवान् शंकर का प्रसिद्द ज्योतिर्लिंग हैं. शिव के बारह ज्योतिर्लिंगों (Jyotirling ) महादेव के नाम से भी जाना जाता हैं.यह मंदिर 3 ,250 फ़ीट की उचाई पर स्थित हैं. इस मंदिर का शिवलिंग बहुत मोटा हैं,जिस वजह से इसे मोटेश्वर महादेव भी कहा जाता हैं.इस मंदिर के नजदीक ही भीमा नामक नदी बहती हैं,जो आगे चलकर कृष्णा नदी से मिलती हैं.

भीमा शंकर मंदिर का इतिहास – History of bhimashankar temple

शिव पुराण (shiv puran) में यह बताया गया हैं कि कुम्भकरण का एक पुत्र था भीम,जो अपने पिता कि मृत्यु के बाद पैदा हुआ था, जब उसे अपने पिता के वध कि कहानी अपनी माँ से पता चली तो उसने श्री राम के वध का निर्णय लिया और ब्रह्मा जी कि तपस्या करने का निर्णय लिया , उसकी तपस्या से प्रसन्न होकर ब्रह्मा जी ने उसे विजयी होने का वरदान दिया , वरदान पाकर भीम निरंकुश हो गया , और उसने तीनो लोको में आतंक मचा दिया.और देवताओ को परेशान करना शुरू कर दिया , पूजा पाठ, यज्ञ , आदि पर प्रतिबन्ध लगा दिया .

सभी देवता भगवान शिव  (Bhagvan shiv )  कि शरण में गए और उनसे राक्षस के अत्याचार से निपटने के लिए प्रार्थना की, शिव ने उन्हें वचन दिया की वे राक्षस का संहार कर उनके कष्ट दूर करेंगे , शिव ने राक्षस भीम का वध करके देवताओ का संकट दूर किया, देवताओ ने मिलकर शिव से यही रुकने की प्रार्थना की , और देवताओ की बात से प्रसन्न होकर शिव ज्योतिर्लिंग के रूप में वही स्थापित हो गए , और यही स्थान भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग के नाम से प्रसिद्द हुआ.

मंदिर की सरंचना-

bhimashankar temple

भीमा शंकर की वास्तुकला नागर शैली में निर्मित हैं.इस सुन्दर मंदिर का निर्माण 18 वी सदी में नाना फडणवीस ने करवाया था.भीमाशंकर मंदिर (bhimashankar temple) की विशेषता यहाँ पर नाना फडणवीस दवरा बनाया गया बड़ा घंटा हैं.इस मंदिर में पूजा आदि के लिए महान शासक शिवाजी ने बहुत सी सुविधाओ की व्यवस्था की.भीमा शंकर मंदिर बहुत ही प्रसिद्द और दर्शनीय स्थल हैं, इसके अलावा यहाँ स्थित (places to visit near bhimashankar)हनुमान झील, गुप्त भीमशंकर, भीमा नदी की उत्पत्ति, नागफनी, बॉम्बे प्वाइंट, साक्षी विनायक आदि देखने लायक स्थल हैं.

Bhimashankar temple timings

Bhimashankar temple timings

सुबह मंदिर खुलने का समय – 4:30 am
आरती – 5:05 am

दर्शन का समय – 5:15 am to 11:30 am.

महा पूजा – 12 pm.

महा निवागम – 12:30 pm.

अभिषेक और पूजा – 12:30 pm to 2:30 pm.

श्रृंगार पूजा – 2:45 pm to 3:15 pm.

आरती – 3:15 pm to 3:30 pm

श्रृंगार दर्शन – 3:30 pm to 7:30 pm

कार्तिक मास

श्रावण मास – श्रृंगार और मुकुट दर्शन नहीं होते

संध्या आरती – 7:30 pm to 8 pm.

दर्शन – 8:00 to 9:30 pm

मंदिर बंद होने का समय – 9:30 pm.

श्रावण मास में मंदिर बंद होने का समय

श्रावण सोमवार – 11:30 pm.

(मंदिर में सोमवार के प्रदोषम, अमावस्या, ग्रहण, महाशिवरात्रि के दौरान दर्शन नहीं कराये जाते। कार्तिक और श्रवण महीने के दौरान मुकुट और श्रृंगार दर्शन नहीं कराये जाते)

हनुमान झील भीमाशंकर -Hanuman Lake Bhimashankar

places to visit near bhimashankar

भीमाशंकर मंदिर के पास स्थित हनुमान झील(hanuman lake bhimashankar)एक प्रसिद्ध पर्यटन का केंद्र हैं.विभिन्न प्रजाति के पक्षी यहाँ आते हैं, यहाँ पास में ही स्थित एक जल प्रपात हैं जो बहुत प्रसिद्ध हैं.पिकनिक मनाने के लिए यह स्थान बहुत ही प्रसिद्ध और सुन्दर स्थान हैं .

गुप्त भीमशंकर- Gupt Bhimashankar

Gupt Bhimashankar

गुप्त भीमशंकर भीमा नदी का उद्गम स्थान हैं ,यहाँ का वन सरक्षित क्षेत्र में आता हैं.जिसमे कई तरह के फूल ,पक्षी ,वन्य जीव और पौधे हैं.इसके अलावा यह शेकरू नाम का दुर्लभ जीव भी देखा जा सकता हैं.

भीमशंकर मंदिर जाने का समय – Best time To Visit bhimashankar Temple

अगस्त और फरवरी माह भीमाशंकर मंदिर जाने का सही समय हैं ,जिन्हे ट्रैकिंग करना पसंद हो वे मानसून के दौरान न जाए . मंदिर जाने के लिए बस और रेल मार्ग दोनों साधनो द्वारा सुविधाएं उपलब्ध हैं.पुणे से सरकारी बसों द्वारा भीमाशंकर मंदिर (bhimashankar temple) जाने के लिए सुविधाएं हैं, शिवरात्रि (shivratri)  में और हर महीने होने वाली शिवरात्रि के दौरान विशेष बस सुविधाएं उपलब्ध हैं.

You May Also Like