हनुमान जी का चमत्कारिक यंत्र आप के हर समस्या का समाधान खुद ही बता देगा | जाने कैसे ?

hanuman ji ke chamatkari mantra in hindi , hanuman ji ke darshan mantra, hanuman darshan mantra in hindi, hanuman ji darshan mantra, hanuman ji ka mantra, hanuman ji ki siddhi mantra, hanuman sidh mantra, hanuman siddhi mantra in hindi, hanuman ji ka beej mantra, hanuman maha mantra, chamatkari mantra in hindi

hanuman ji ke chamatkari mantra, hanuman ji ke darshan mantra, hanuman darshan mantra in hindi, hanuman ji darshan mantra, hanuman ji ka mantra, hanuman ji ki siddhi mantra, hanuman sidh mantra, hanuman siddhi mantra in hindi, hanuman ji ka beej mantra, hanuman maha mantra, chamatkari mantra in hindi

hanuman ji ke chamatkari mantra, hanuman ji ke darshan mantra, hanuman darshan mantra in hindi, hanuman ji darshan mantra, hanuman ji ka mantra, hanuman ji ki siddhi mantra, hanuman sidh mantra, hanuman siddhi mantra in hindi, hanuman ji ka beej mantra, hanuman maha mantra, chamatkari mantra in hindi

तंत्रो को साक्षात् देवी देवताओ का प्रतीक माना गया है, ये सोने चाँदी आदि किसी भी धातु के बने हो सकते है परन्तु इनके भीतर जो कोण एवम रेखाएं खिंची होती है वह बहुत ही जटिल होती है. ये अपने आप में लिए ब्रह्मांड को सूक्ष्म रूप में दिखाते है.

वास्तव में यंत्र शब्द का अर्थ होता है ” ग्रह”. यंत्र साधना द्वारा यदि साधक चाहे तो वह ग्रहो को अपने अनुकूल बना सकता है, यन्त्र साधना को ग्रन्थों में अत्यंत शक्तिशाली माना गया है. पुराणों में यंत्र के सम्बन्ध में कहा गया है की यह देवताओ का साक्षात् शरीर है वही मंत्रो को देवताओ की आत्मा बतलाया गया है.

हमारे हिन्दू धर्म ग्रन्थों में कई प्रकार के यंत्रो का वर्णन आता है परन्तु आज हम आपको हनुमान यंत्र(hanuman ji ke chamatkari mantra) के बारे में बताने जा रहे है. इस यंत्र की सहायता से कोई साधारण मनुष्य भी अपने जीवन में आ रहे कठिन समस्याओ का समाधान पा सकता है.

हनुमान जी के इस चमत्कारी यंत्र को हनुमान प्रश्नवाली चक्र भी कहा जाता है.

जिस किसी भी व्यक्ति को अपने प्रश्न का उत्तर चाहिए वह प्रातः स्नान आदि से निर्मित होकर अपने घर के मंदिर में हनुमान प्रश्नावली यंत्र स्थापित करे तथा इसके बाद यंत्र को एक साफ़ कपडे में रखकर निचे रखे.

यंत्र का प्रयोग करने से पूर्व पांच बार राम रमाय नमः मन्त्र का उच्चारण करे इसके पश्चात 11 बार हं हनुमंते रुद्रात्मकाय हुम्फट स्वाह का उच्चारण करे.इसके बाद हनुमान जी का मन में ध्यान करते हुए हनुमान प्रश्नावली चक्र को कर्सर में घुमाये.

जिस नंबर पर कर्सर रुके उसका नम्बर देखते हुए अपने प्रश्नों का उत्तर निम्न तरीके से प्राप्त करे.

1 . यदि आपका 1 नम्बर आये तो इसका अभिप्राय है आपका कार्य शीघ्र पूर्ण होने वाला है.

2 . इस नम्बर का मतलब है की अभी आपके कार्य को पूर्ण होने में कुछ समय लगेगा. मंगलवार का व्रत रखे .

3 . प्रतिदिन हनुमान चलीसा का पाठ करेंगे तो आपका कार्य शीघ्र ही पूर्ण होगा.

4 . कार्य के पूर्ण होने में बढ़ा आएगी सम्भव है की आपका कार्य पूर्ण नहीं हो सकता है.

5 . यदि आपका नम्बर 5 है तो इसका अभिप्राय है की आप कार्य तो पूर्ण हो जाएगा परन्तु इसके लिए आपको अपने मित्र या सगे सम्बन्धी की सहायता लेनी पड़ेगी.

6 . यह नम्बर बताता है की आपके कार्य में अनेक प्रकार के बाधाये आएँगी. इनसे बचने के लिए बजरंगबाण का पाठ करे .

7 . आपका कार्य अवश्य पूर्ण होगा तथा इसमें किसी स्त्री की भागेदारी हो सकती है.

8 . आपका जो कार्य है वह पूर्ण होने की सम्भावना कम है अतः कोई दुसरा कार्य चुन ले .

9 . आपका कार्य पूर्ण होगा हर रोज हनुमान चालीसा का पाठ करे.

10 . आपका कार्य पूर्ण होगा परन्तु आपको हर मंगलवार हनुमान चालीसा का पाठ करना होगा इसके साथ ही हनुमान जी को चोला चढाये .

11 . आपका कार्य शीघ्र ही पूर्ण होगा.

12 . आपके शत्रु आपके कार्य में विघ्न उतपन्न करेंगे अतः इन सभी बढ़ाओ से मुक्ति प्राप्त करने के लिए सुन्दरकाण्ड का पाठ करे.

13 . मंगलवार को पीपल के वृक्ष(Pipal )को पूजे. आपके सभी कार्य सम्पन्न होंगे.

14 . आपके सभी कार्य शीघ्र ही सम्पन्न होने वाले है.

15 . स्वास्थ्य स्वस्थ रहेगा तथा सभी चिंताओं से मुक्ति मिलेगी.

16 . परिवार में वृद्धि होने की सम्भावना है. जल्द ही अच्छी खबर सुनने को मिल सकती है. रामचरित मानस एवम बालकाण्ड का पाठ करे .

17 . कुछ समस्याओ का सामना करना पड़ सकता है. हर रोज एक माला जाप इस मन्त्र का करे. हं हनुमंते रुद्रात्मकाय हुम्फट स्वाह !

18 . हनुमान चालीसा का पाठ करे, तथा मंगलवार के दिन गाय को कुछ खाने को दे. परिवार में सुख समृद्धि बनी रहेगी.

19 . आपको व्यवसाय में लाभ होने वाला है. दक्षिण दिशा की और अपने व्यवसायिक सम्बन्ध बढाये.

20 . शीघ्र ही आपको ऋण से मुक्ति प्राप्त होने वाली है रोज हनुमान चालीसा का पाठ करे.

21 . श्रीराम चंद्र की कृपा से धन मिलेगा हर रोज सीता राम के नाम की पांच माला का जाप करे.

22 . आपको शुरुवात में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है परन्तु अंत में विजयी आपकी होगी.

23 . आपके दिन सही नहीं चल रहे कुछ संकटो का समाना करना पड़ सकता है नित्य हनुमान चालीसा का पाठ करे.

24 . आपके घर वाले ही आपके विरोध में है अतः स्थिति को अपने अनुकूल बनाने के लिए पूर्णिमा का व्रत करे.

25 . आपको शीघ्र ही शुभ समाचार मिलने वाले है.

26 . हर काम सोच समझकर करे क्योकि आपकी ग्रह स्थिति आपके अनुकूल नहीं है.

27 . स्त्री पक्ष से आपको लाभ होगा. दुर्गा सप्तमी का व्रत करे.

28 . अभी कुछ महीने तक आपको परेशानियों का समान करना पड़ सकता है.

29 . शीघ्र ही आपको कोई अच्छी खबर सुनने को प्राप्त हो सकती है.

30 . आपका मित्र ही आपको धोखा दे सकता है अतः हनुमान चालीसा की नियमित पाठ करे.

31 . शिव की आराधना करे शीघ्र आपको अचानक धन की प्राप्ति हो सकती है .

32 . आपके दुश्मन आपको परेशान कर रहे है अतः शिव तांडव स्रोत का हर रोज पाठ करने आपके लिए लाभदायक है.

33 . कोई स्त्री के कारण आप परेशानी में आ सकते है, सावधान रहे.

34 . व्यवसाय से सम्बन्धित अथवा कोर्ट से सम्बन्धित मामलो में आप समस्या में पड़ सकते है.

35 . नोकरी में आपको लाभ प्राप्त होने वाला है, पदोन्नति होगी.

36 . आपके लिए यात्रा का योग बन सकता है.

37 . आपके सन्तान पक्ष से समस्या प्राप्त हो सकती है, श्री राम की माला का हर रोज 108 बार जप करे.

38 . आपको अभी कुछ दिनों तक और परेशानी का समाना करना पड़ सकता है. परन्तु हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa)  के द्वारा यह काफी हद तक कम हो सकता है.

39 . आपका समय अच्छा नहीं चल रहा है.

40 . अतिशीघ्र आपको धन की प्राप्ति हो सकती है, हनुमान चालीसा का पाठ करे.

41 . आपकी मनोकामना पूर्ण होगी .

42 . आपका समय अभी अच्छा नहीं है.

43 . व्यवसाय में आप को लाभ होने की सम्भावना है.

44 . दाम्पत्य सुख की प्राप्ति होगी.

45 . अभी आप शत्रुओ से घिरे हुए है जो आप को नीचे दिखाने की कोशिश कर रहे है. हनुमान चालीसा का पाठ करे इस समस्या से मुक्ति मिलेगी.

46 . अभी दुर्भाग्य समाप्त नहीं हुआ है, परन्तु यात्रा से लाभ प्राप्त हो सकता है.

47 . सन्तान सुख की प्राप्ति हो सकती है.

48 . आपकी मनोकामना पूर्ण होगी.

49 . शुभ संकेत बन रहे है जल्द ही अच्छी खबर मिलेगी.

You May Also Like