गुरुड़ पुराण में बताई गई पांच चमत्कारी बाते, बदल कर रख देंगी आपका पूरा जीवन !

safalta pane ke upaye, काम मे सफलता के टोटके, safalta pane ke mantra, safalta pane ka tarika, safalta pane ke totke in hindi, safalta pane ke tips in hindi, safalta pane ka totka, कामयाब होने के तरीके, jivan me safalta pane ke upay

safalta pane ke upaye, काम मे सफलता के टोटके, safalta pane ke mantra, safalta pane ka tarika, safalta pane ke totke in hindi, safalta pane ke tips in hindi, safalta pane ka totka, कामयाब होने के तरीके, jivan me safalta pane ke upay

safalta pane ke upaye :-

 

गरुड़ पुराण में कई ऐसी बातें बताई गई हैं, जो किसी को भी जीवन में सफलता ( safalta pane ke upaye)  दिला सकती है. गरुड़ पुराण के एक शलोक के अनुसार, जिस किसी को भी अपने जीवन में उन्नति की इच्छा हों, उन्हें इन 6 की हमेशा पूजा-अर्चना करनी चाहिए.

श्लोक :-

विष्णुरेकादशी गंगा तुलसीविप्रधेवनः
असारे दुर्गसंसारे षट्पदी मुक्तिदायिनी..

1 . गरुड़ पुराण के अनुसार, भगवान विष्णु अपने भक्तों के सभी दुःखों को खत्म करके उनके जीवन में सुख-शांति प्रदान करते हैं. जो मनुष्य रोज अपने दिन की शुरुआत भगवान विष्णु की पूजा-अर्चना करके करता है, उसे अपने काम में सफलता मिलती है. ध्यान रखें भगवान की पूजा करने से पहले स्नान आदि करके शुद्ध हो जाएं.

2 . ग्रंथों और पुराणों में एकादशी व्रत ( ekashi vrat) को सबसे श्रेष्ठ बताया गया है. पुराणों के अनुसार, जो मनुष्य प्रत्येक एकादशी को पूरी श्रद्धा और विश्वास के साथ व्रत रखता है, उसे निश्चित ही इसका शुभ फल मिलता है. व्रत करने के अलावा एकादशी के दिन जुआ खेलना, शराब पीना, हिंसा करना आदि काम वर्जित हैं. इसलिए, एकदाशी पर व्रत करने के साथ ही इन कामों से दूर रहें.

safalta pane ke upaye

3 . गंगा नदी को सभी नदियों में सबसे श्रेष्ठ माना जाता है. हर किसी को गंगा नदी ( ganga ndi ) को देव तुल्य मान कर, हमेशा उसकी पूजा-अर्चना करनी चाहिए. किसी भी रूप में गंगा का अपमान न करें. इस बातों का ध्यान रखने वाले मनुष्य को निश्चित ही अपने हर काम में सफलता मिलती है.

4 .तुलसी भगवान का ही एक रूप है. Tulsi ka paudha  अपने घर में लगाना, रोज उसे जल देना और उसकी पूजा करना शुभ माना जाता है. हर किसी को रोज भगवान विष्णु के प्रसाद में तुलसी पत्र रखना चाहिए और विष्णु पूजा के बाद तुलसी पूजा करनी चाहिए.

5 .पंडितों या ज्ञानी मनुष्य को सम्मान का पात्र समझना चाहिए. कई लोग इनका मजाक उढ़ाते हैं, जो कि बहुत ही गलत माना जाता है. जो मनुष्य ज्ञानी लोगों का सम्मान करता है और उनकी बताई बातों का पालन अपने जीवन में करता है, वह हर परेशानी का सामना आसानी से कर लेता है और हर काम में सफल होता है.

You May Also Like