मंगलवार का व्रत : मिलेगी बजरङ्ग बलि की कृपा

मंगलवार का दिन मंगल कर्त्ता श्री हनुमान जी का दिन , (Mangalwar ke upay in Hindi) जो मंगल कार्य सिद्ध करते हैं, हनुमान को अमरत्व प्राप्त देव हैं उनका अस्तित्व कलयुग में भी हैं, इसलिए उनकी प्रार्थना हो या पूजा निष्फल नहीं जाती , हनुमान की (Mangalwar ke upay in Hindi) आराधना के दो दिन विशेष हैं, शनिवार और मंगलवार. शनिवार और मंगलवार को हनुमान जी की आराधना विशेष फल देती हैं, शनिवार और मंगलवार को हनुमान जी को लाल चोला चढ़ाना और चमेली के तेल सिंदूर मिलकर हनुमान जी को अर्पित करना शुभ फलदायक होता हैं. मंगलवार को किये जाने वाले उपाय व्यक्ति को धन धान्य से भर देंगे .

Mangalwar Ke Upay

Mangalwar ke upay

मंगलवार के उपाय (Mangalwar ke upay in Hindi)न केवल जीवन में आर्थिक विपन्नता को दूर करेंगे , वरन घर में भी सुख समृद्धि का वास होगा. शास्त्रों की माने तो मंगलवार के उपाय न केवल हनुमान जी से जुड़े हैं , बल्कि यह श्री गणेश से भी इनका सीधा सम्बन्ध हैं , क्युकी गणेश को सुखकर्ता , दुखहर्ता, मंगलमूर्ति माना गया हैं. मंगलवार के उपाय आर्थिक लाभ प्रदान करते हैं. और रूपये पैसे से जुडी परेशानियों को दूर भी करते हैं.

मंगलवार के उपाय से जुड़े उपाय इस प्रकार हैं.(Mangalwar ke upay in Hindi)

मंगलवार को हनुमान जी की पूजा और मंगलवार से जुड़े उपाय करने से हनुमान जी प्रसन्न होते हैं, और शुभ फल देते हैं, मंगलवार के दिन हनुमान जी को लाल चोला चढ़ाने और गुलाब के फूलो की माला और केवड़े का इत्र चढ़ाने से हनुमान जी प्रसन्न होते हैं, और शुभ फल देते हैं.

Mangalwar ke upay in Hindi

मंगलवार के दूसरे उपाय में मंगलवार के दिन संध्या समय में hanuman ji के मंदिर में जाए , वह हनुमान जी के समक्ष सरसो के तेल का,और घी का दीपक जलाये और हनुमान चालीसा का पाठ करे . हनुमान जी प्रसन्न होते हैं, और शुभ फल प्रदान करते हैं.

Mangalwar ke upay in Hindi

मंगलवार के दिन हनुमान जी को बूंदी का प्रसाद चढ़ाना चाहिए और उसके पश्च्यात गरीबो में बाँट देना देना चाहिए , मंगलवार को किये जाने वाला यह भी अचूक उपाय हैं, इससे आर्थिक तंगी दूर होती हैं.

Mangalwar ke upay

मंगलवार के दिन हनुमान जी के समक्ष बड़ वृक्ष के एक पत्ते को धोकर रखे , इसके पश्च्यात इसमें जय श्री राम लिखे , अब इस पत्ते को अपने पर्स में रखे , आपको कभी भी रूपये पैसे की कमी नहीं रहेगी.

Hanuman ji ko khush karne ke upay

हनुमान जी(Hanuman ji ko khush karne ke upay) कलयुग में एक जीवित देव हैं , श्री राम प्रभु ने उन्हें अमरता का वरदान दिया हैं. मंगल के दिन जन्मे हनुमान का पावन दिन मंगलवार का हैं . मंगलवार का दिन और शनिवार का दिन हनुमान जी को समर्पित हैं . इस दिन हनुमान जी की विशेष पूजा अर्चना करके हनुमान जी को प्रसन्न किया जा सकता हैं, मंगलवार के दिन हनुमान जी की पूजा विशेष फलदायक और शुभकारी होती हैं.

मंगलवार के दिन (Hanuman ji ko khush karne ke upay) सवेरे स्नान करके बड़ के पेड़ का पत्ता तोड़कर उसे स्वच्छ पानी से धो ले , अब इसे हनुमान जी के समक्ष रखने के बाद इसमें केसर से श्री राम लिखकर अपने पर्स में रख दे , जब यह पत्ता सुख जाये तो इसे जल में प्रवाहित कर दे, इसी उपाय को दोहराते रहे , इससे आपको रूपये  पैसे की कभी कमी नहीं रहेगी.

Hanuman ji ko khush karne ke upay

 

मंगलवार के दिन  (Hanuman ji ko khush karne ke upayस्नान से शुद्ध होकर हनुमान जी को लाल चोला चढ़ाये और  हनुमान जी चोला चढ़ाने के साथ ही हनुमान जी के  समक्ष चमेली के तेल का दीपक जलाये . हनुमान जी प्रसन्न होते हैं.

Hanuman ji ko khush karne ke upay in hindi

हनुमान जी (Hanuman ji ko khush karne ke upay) को मंगलवार को चोला चढ़ाने के साथ ही उन्हें गुलाब के फूलो की माला भी पहनाये , साथ ही हनुमान की मूर्ति के सामने बैठकर तुलसी की माला से निम्न मंत्र का जाप करे .
मंत्र-
राम रामेति रामेति रमे रामे मनोरमे
सहस्त्र नाम तत्तुन्यं राम नाम वरानन

हनुमान जी को पहनाई गयी गुलाब के फूलो की माला में से एक गुलाब का फूल धन वाले स्थान में रख दीजिये , पैसे की कोई कमी नहीं रहेगी .

Hanuman ji ko khush

हनुमान जी को खुश करने के (Hanuman ji ko khush karne ke upay)  दूसरे उपायों में श्री राम जन्म दिवस यानि राम नवमी को को किये जाने वाली विशेष पूजा हैं जिसमे किसी भी हनुमान मंदिर में जाकर हनुमान जी को चोला और सिन्दूर और चमेली का तेल अर्पित करे ,और अपनी प्रार्थना हनुमान जी से कहे , हनुमान जी समस्त मनोकामना को पूरा करेंगे

मानव जीवन में अनेक समस्याएं होती हैं, हनुमान जी को खुश करने के दूसरे अन्य उपायों (Hanuman ji ko khush karne ke upay) में किसी हनुमान मंदिर में जाकर हनुमान जी को गुड़ चने का भोग लागए और श्री राम रक्षा स्त्रोत का पाठ करे , हनुमान जी आपकी परेशानियों को दूर करेंगे

 

Mangalwar ka Mahtav

मंगलवार का दिन (Mangalwar ka Mahtav) बहुत विशेष माना गया हैं . मंगलवार के दिन की गणना शुभ दिनों में की जाती हैं, क्युकी यह दिन रामभक्त श्री हनुमान जी का विशेष दिन होता हैं. इस दिन किसी भी कार्य की शरुवात शुभ और मंगलकारी मानी जाती हैं. इस दिन हनुमान जी की पूजा (Mangalwar ke upay)  का विशेष महत्व होता हैं. इस दिन हनुमान जी को लाल चन्दन और अक्षत अर्पित करना शुभ होता हैं.

मंगलवार के दिन हनुमान जी को नारियल में मौली लपेटकर चढ़ाये . हनुमान चालीसा का पाठ करे

Mangalwar ka Mahtav

हनुमान जी को मंगलवार (Mangalwar ka Mahtav) के दिन गुड़ या गुड़ के बने लडडू चढ़ाये.

Mangalwar ka Mahtav

मंगलवार के दिन हनुमान जी को आम , केले, और अनार का भोग लगाए ,

मंगलवार का महत्व (Mangalwar ka Mahtav) शास्त्रों , पुराणों में वर्णित हैं , मंगलवार का महत्व हनुमान जी को समर्पित होने के कारण और भी बढ़ जाता हैं. इस दिन जिन्हे मंगल दोष जिन्हे होता हैं. उनके लिए मंगल दोष शांति का उपाय करवाने का महत्व हैं.

 

Bajrang Bali ki vrat katha or vrat vidhi

मंगलवार का व्रत सौभाग्य , संतान ,धन, अखंड सौभाग्य के लिए किया जाता हैं.बजरंग बलि के व्रत में नमक का परहेज होता हैं. इस दिन मीठा ही खाना खाना चाहिए . व्रत में एक समय ही भोजन ग्रहण करना चाहिए. इस व्रत में लाल वस्त्र ही धारण करे , महिलाओ और अविवाहित लड़कियों के लिए इस व्रत का विशेष महत्व हैं बजरंग बलि के इस व्रत में में हनुमान जी को लाल वस्त्र अर्पित करे , लाल फूलो से ही ही पूजा करे . बजरंग बलि को समर्पित इस व्रत की कथा इस प्रकार हैं.

Bajrang Bali ki vrat katha

प्राचीन काल में हनुमान भक्त किसी ब्राह्मण दम्पति की कोई संतान नहीं थी , ब्राह्मण हनुमान जी की पूजा करने के उद्देश्य से वन की और चला गया. और उसकी पत्नी मंगलवार का व्रत (Mangalwar ke upay) करने लगी और पुत्र की कामना से हनुमान जी का पूजन करने लगी. ब्राह्मणी मंगलवार के दिन एक समय भोजन करती और भोजन बनाकर हनुमान जी को पहले भोग लगाती ,फिर भोजन ग्रहण करती .एक दिनएक दिन ब्राह्मणी किसी और व्रत की वजह से भोजन न बना सकीय तो उसने यह प्राण किया की अब अगले मंगल को भोजन बनाकर हनुमान जी को भोग लगाकर ही वह भोजन करेंगी.

vrat vidhi

एक सप्ताह तक वह ब्राह्मणी बिना भोजन किये रही , मंगलवार का दिन आने पर वह मूर्छित हो गयी. हनुमान जी उसकी निष्ठा देखकर बहुत प्रसन्न हुए , और उसे वरदान देकर कहा में तुम्हे एक बालक देता हूँ , जो तुम्हारी सेवा करेगा ब्राह्मणी बहुत प्रसन्न हुयी उसने इस बालक का नाम मंगल रखा .एक दिन ब्राह्मण वन से लौटकर वापिस आया ,घर पर सुन्दर बालक को देखकर उसने ब्राह्मणी से बालक के विषय में पूछा . ब्राह्मणी ने बताया कि हनुमान ने उसकी मंगलवार कि पूजा और भक्ति से प्रसन्न होकर बालक दिया हैं. ब्राह्मण ने यह विचार किया , कि यह अपने पाप छुपाने के लिए ऐसा बोल रही हैं . ब्राह्मण कुए में पानी भरने गया . ब्राह्मणी ने उसे कहा की मंगल को भी साथ ले जाओ , ब्राह्मण मंगल को साथ लेकर गया , और मंगल को कुए में डालकर वापिस आ गया . ब्राह्मणी बोली मंगल कहा हैं. तभी मंगल वापिस आ गया , रात्रि में ब्राह्मण के स्वपन में हनुमान जी आये और उन्होंने बोला तुम अपनी पत्नी के विषय में ऐसा गलत क्यों सोचते हो , यह बालक मैंने उसे दिया हैं. यह सुनकर ब्राह्मण हर्षित हो गया , अब ब्राह्मण दम्पति मिलकर मंगलवार का व्रत रखने लगे , और आनंद से रहने लगे .

Mangalwar vrat ka khana

Mangalwar vrat ka khana

मंगलवार के व्रत(Mangalwar vrat ka khana) में मीठा भोजन करने का ही नियम हैं, मंगलवार के दिन नमक का भोजन बिलकुल भी नहीं करना चाहिए , नियमानुसार मंगलवार के व्रत में केवल संध्या काल में एक समय भोजन करना चाहिए,मंगलवार के व्रत में गेहू और गुड़ से बनाये गए भोजन का महत्व हैं.मंगलवार के व्रत करने वाले जातक को सभी पापो से मुक्ति मिल जाती हैं. 21 मंगलवार व्रत करने के बाद 22 वे मंगलवार को 21 ब्राह्मणो को भोजन करवाना चाहिए.

Mangalwar vrat ke niyam

मंगलवार का व्रत ( Mangalwar vrat ke niyam ) बहुत शुद्धता और ब्रह्मचर्य का पालन बहुत जरुरी होता हैं. मंगलवार के व्रत में प्रातकाल स्नान करके लाल वस्त्र ही धरण करे , हनुमान जी की पूजा मैं लाल चन्दन और लाल फूलो का ही प्रयोग करे .हनुमान जी को खीर और लड्डुओं का ही भोग लगाए. और स्वयं नमकरहित भोजन करे.

Mangalwar vrat ke niyam

हनुमान जी के ( Mangalwar vrat ke niyam ) समक्ष घी का दीपक ही जलाये. और हनुमान चालीसा या सुन्दरकाण्ड का पाठ करे.शनि दोष , शनि की साढ़ेसाती, शनि की ढैया के दौरान मंगलवार का व्रत बहुत अचूक और राम बाण हैं, क्युकी शनिदेव हनुमान भक्त को कभी संताप नहीं देते हैं.

Mangalwar vrat ke Fayde | Benefits

मंगलवार व्रत ( Mangalwar ke upay) के नेक फायदे हैं. जिन की कुंडली मैं शनि दोष हो या जो शनि की साढ़ेसाती के ताप से परेशां हो , उनके लिए मंगलवार का व्रत बहुत फलदायी हैं. मंगलवार का व्रत सौभाग्य के लिए और संतान के लिए भी अति उत्तम हैं शनि ग्रह या मंगल ग्रह के कष्ट से मुक्ति के लिए भी मंगल का व्रत भी अति शुभकारी हैं.

Mangalwar vrat ke Fayde

बजरंग बलि का यह व्रत संतान , सौभाग्य के लिए सर्वश्रेष्ठ व्रत हैं. इस व्रत को करने से हनुमान जी की कृपा भी प्राप्त होती हैं और शनिदेव का आशीर्वाद भी बना रहता हैं.

 

 

You May Also Like