भारत का बाल भी बाका नही कर सकता पकिस्तान, ज्योतिष अनुसार भारत-पाक युद्ध के ऐसे बन रहे योग !

कश्मीर के उरी जिले में जो हमारे सैनिक छावनी पर आतंकी हमला हुआ था उसने पुरे भारत देश को झकझोर के रख दिया है. पिछले ढाई दशक से पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद से त्रस्त जम्मू-कश्मीर राज्य में यह सेना पर अब तक का सबसे बड़ा आतंकी हमला माना जा रहा है.

वर्तमान में स्थिति को ध्यान में रखकर ज्योतिष अनुसार जो भविष्यवाणी सामने आई है वो हैरान करने वाली है.

15 अगस्त 1947 को आजाद हुए भारत की कुंडली पर दृष्टि डालें तो आने वाले दिनों में परिस्थितियां और अधिक विकट होती दिख रही हैं. वृषभ लग्न की कुंडली में चंद्रमा में मंगल की विंशोत्तरी दशा 9 जुलाई 2016 से 7 फरवरी 2017 तक है.

चंद्रमा भारत की कुंडली में तीसरे भाव का स्वामी होकर पड़ोसियों से सीमा पर संघर्ष की स्थिति को दर्शाता है.

मंगल भारत की कुंडली में सप्तम भाव यानी युद्ध स्थान तथा हानि स्थान यानी बाहरवें घर का स्वामी होकर मारक स्थान में बैठा हुआ है. जबकि गोचर में शनि वृश्चिक राशि में स्थित होकर भारत की कुंडली में सप्तम भाव को प्रभावित कर रहे हैं.

ऐसे में आगामी जनवरी माह तक भारत को सीमा पर युद्ध जैसी स्थिति का सामना करना पड़ सकता है.

स्थितियां और भी अधिक तब बिगड़ेगी जब गोचर में सूर्य तुला राशि में 17 अक्तूबर को प्रवेश कर भारत के छठे भाव को प्रभावित करेंगे.

17 अक्टूबर के बाद भारतीय सेना पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में स्थित आतंकी शिविरों को निशाना बना सकती है जिसके जवाब में पाकिस्तान की ओर से भी सैन्य कार्वाई की जाएगी.

भारत तथा पाकिस्तान के बीच इस वर्ष रिश्ते इतने खराब हो सकते हैं कि दोनों देशो के बीच राजनयिक संबंध भी समाप्त हो सकते हैं.

अब पाकिस्तान की कुंडली पर नजर डालें तो 14 अगस्त 1947 को मध्य रात्रि में आजाद हुए इस देश का जन्म लग्न मेष है. शुक्र में राहु की अशुभ विशोंत्तरी दशा में चल रहा पाकिस्तान विघटन की कगार पर खड़ा है.

महादशानाथ शुक्र कुंडली में दूसरे और सातवें घर का स्वामी होकर प्रबल मारक बन रहा है. अंतर दशानाथ राहु दूसरे घर में बैठकर मारक तत्व लिए हुए है.

पाकिस्तान को वर्ष 2016 और 2020 में भारत के साथ युद्धों में भारी क्षति का सामना करना पड़ेगा जिससे यह देश टूट कर बिखर सकता है. साथ ही इस वर्ष अष्टम शनि के गोचर के कारण पाकिस्तान में सत्ता परिवर्तन के योग भी बन रहे हैं. नवाज शरीफ सरकार का तख्तापलट हो सकता है इसकी संभावना भी प्रबल है.