Uncategorized
0
Amalaki Ekadashi March 2021 Date (मार्च 2021 आमलकी एकादशी)
1

हिंदू पंचांग के अनुसार आमलकी एकादशी(Amalaki Ekadashi) 2021 में 25 मार्च (25 March), गुरुवार को मनायी जानी है. हर वर्ष यह शुक्ल पक्ष की एकादशी को मनायी ...

0
यह हमारे हिन्दू सनातन धर्म की 10 अत्यधिक महत्वपूर्ण बाते, हर हिन्दू को यह बात जनाना है जरूरी !
0

हिंदुत्व केवल एक धर्म ही नहीं है बल्कि यह एक सफल जीवन जीने का तरीके के रूप में भी देखा जा सकता है. हिन्दू धर्म की अनेको विशेषताएं है तथा इसे सनातन धर्म की भी ...

0
रावण संहिता के  ये उपाय धन से भर देंगे आपके घर को !!!!
0

इतिहास के पन्नो को हम पलटकर देखे रावण का चरित्र हम एक दुष्ट राक्षस के रूप में देखेंगे , जिसने छल से सीता का हरण किया, पर एक और जहाँ रावण में (ravan samhita ke ...

0
मोहनी एकादशी  : सभी एकादशी में सर्वश्रेष्ठ
0

मोहिनी एकादशी (2018 Mohini Ekadashi)का व्रत हिन्दू धर्म में बहुत महत्वपूर्ण माना जाता हैं. श्री हरि को समर्पित यह व्रत पाप से मुक्त प्रदान करने वाला माना जाता ...

0
बुद्ध  पूर्णिमा के रूप में हैं विख्यात वैसाख पूर्णिमा
0

हिन्दू पंचांग में कई तिथियां बहुत महत्वपूर्ण होती हैं.जिनमे . चतुर्दशी , पूर्णिमा , एकादशी, प्रदोष इस सभी तिथि में स्नान , दान और व्रत का बहुत माहात्म्य होता ...

0
कैसे बने शक्ति पीठ ?शक्तिपीठो के दर्शन – देवी के प्रमुख नौ शक्तिपीठ
0

शक्ति पीठो (shakti peeth in India)की महिमा का भी वर्णन बड़ा ही अध्भुत और मार्मिक भी हैं,ये सारे ही शक्तिपीठ माँ सती के प्रतीक के रूप इस धरा में विराजमान ...

0
कमलगट्टा  के लाभ- कमलगट्टे की माला का महत्व- Kamal Gatte Ki Mala
0

माँ लक्ष्मी का हमारे जीवन के सुख समृद्धि और वैभव में बड़ा योगदान हैं, श्री के बिना जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती, वेदो , पुराणों में माँ लक्ष्मी का महत्व ...

0
जानिये आप की मृत्यु कब और कैसे होगी ?
0

जन्म और मृत्यु  जीवन की सबसे बडा सच है हमारे जनम से पहेले ही हमारी मृत्यु का समय तय हो जाता है  गुरुड़ पुराण में इंसान के अच्छे या बुरे ...

0
केरल का पवित्र सबरीमाला श्री अयप्पा का मंदिर
0

सबरीमाला(Sabrimala Temple) तीर्थ दुनिया के प्रसिद्द तीर्थो में से एक हैं.केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम से 175 किलोमीटर दूर पम्पा नामक स्थान से 4 -5 किलोमीटर दूर ...

0
Rameshwaram Mandir History/रामेश्वर मंदिर का इतिहास
0

भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग(Rameshwaram Mandir,) ,कला और स्थापत्य का बेजोड़ संगम हैं, दक्षिण भारत के रामेश्वरम में स्थित ...

0
Maa Baglamukhi Sadhna माँ बगलामुखी की साधना में  ध्यान देने योग्य बाते.
0

हमारे प्राचीन ग्रंथो में 10 महाविद्या का उल्लेख मिलता है: 1. काली 2. तारा 3. षोड़षी 4. भुवनेश्वरी 5. छिन्नमस्ता 6. त्रिपुर भैरवी 7. धूमावती 8. ...

0
इस गुड़ी पड़वा बनाये स्वादिष्ट मीठे पकवान
0

चैत्र शुक्ल की प्रतिपदा यानि नवरात्र के पहले दिन हिंदी नवसंवत्सर की शुरुवात होती हैं, इसी दिन महाराष्ट्र में गुड़ी पड़वा त्यौहार मनाया जाता हैं .गुड़ी पड़वा के दिन ...

Mereprabhu
Logo
Enable registration in settings - general