चाणक्य ने बताई थी कुछ गुप्त बात, जिसके कारण ही मौर्यवंश राजाओ ने किया था कई सालो तक राज | chanakya niti in hindi

chanakya niti in hindi pdf

दोस्तों आज हम आपको चाणक्या नीति ( chanakya niti in hindi pdf ) की किताब में लिखे कुछ महत्वपूर्ण विचारो के बारे में बताने जा रहे है जो आपके जीवन में बहुत काम आएंगे. इससे पहले हैं आपको आचार्य चाणक्य के बारे में बतादे की वह एक महान विद्वान थे तथा उनके नीतियों पर चलकर अनेक सम्राज्य स्थापित हुए.
कोई भी काम आरम्भ करने से पहले अपने आप से तीन प्रश्न अवश्य करे, की में जो ये काम करने जा रहा हु इसके परिणाम क्या हो सकते है. में आखिर इसे क्यों कर रहा हु. क्या में इस कार्य में सफल होऊंगा. अगर गहराई से सोचने के बाद आप अपने उत्तरो से संतुष्ट हे तभी उस कार्य को आरम्भ कीजिये.

                                                                                                                                                                                 Chanakya चाणक्य

व्यक्ति अकेले पैदा होता है तथा वह अकेले ही मर जाता है. तथा वह अपने अच्छे और बुरे कर्मो के फल के लिए खुद ही उत्तरदायी होता है. वह अकेले ही नरक अथवा स्वर्ग जाता है.

                                                                                                                                                                                  Chanakya चाणक्य

भगवान को मूर्तियों में नहीं होते है, आपकी अनुभूति आपका ईश्वर होता है तथा आत्मा आपका मंदिर.
आगर साँप जहरीला नहीं भी होता है तो भी उसे अपने आपको जहरीला दिखाना पड़ता है.

                                                                            Chanakya चाणक्य

इस बात को व्यक्त मत होने दीजिये की आपने क्या करने का सोचा है. इस बात को बुद्धिमता से रहस्य बनाये रखिये तथा इस कार्य को करने के लिए दृढ रहिये.

                                                                             Chanakya चाणक्य

शिक्षा समसे कीमती चीज़ है, एक शिक्षित व्यक्ति हर जह सम्मान पाता है, शिक्षा योवन और शोंदर्य को परास्त कर देता है.

                                                                                                                                                                                       Chanakya चाणक्य

जैसे ही कोई भय आपके समीप आये उस पर आक्रमण कर उसे नष्ट कर दीजिये.

                                                                                                                                                                                       Chanakya चाणक्य

किसी मुर्ख व्यक्ति के लिए किताबो का उतना ही मूल्य होता है जितना की किसी अंधे व्यक्ति के लिए आईने का.

                                                                             Chanakya चाणक्य

सेवक को तब परखें जब वह काम ना कर रहा हो, रिश्तेदार को किसी कठिनाई में, मित्र को संकट में, और पत्नी को घोर विपत्ति में.

                                                                             Chanakya चाणक्य

संतुलित दिमाग जैसी कोई सादगी नहीं है, संतोष जैसा कोई सुख नहीं है, लोभ जैसी कोई बीमारी नहीं है, और दया जैसा कोई पुण्य नहीं है.

                                                                             Chanakya चाणक्य

यदि किसी व्यक्ति का स्वभाव अच्छा है तो उसे किसी गुण की क्या आवश्यकता. इसी तरह किसी आदमी के पास प्रसिद्धि है तो उसे किसी श्रृंगार की क्या आवश्यकता.

                                                                             Chanakya चाणक्य

हे बुद्धिमान लोगों ! अपना धन उन्ही को दो जो उसके योग्य हों और किसी को नहीं. बादलों के द्वारा लिया गया समुद्र का जल हमेशा मीठा होता है.

                                                                             Chanakya चाणक्य

एक अनपढ़ व्यक्ति का जीवन उसी तरह से बेकार है जैसे की कुत्ते की पूँछ, जो ना उसके पीछे का भाग ढकती है ना ही उसे कीड़े-मकौडों के डंक से बचाती है.

                                                                             Chanakya चाणक्य

एक उत्कृष्ट बात जो शेर से सीखी जा सकती है की किसी भी कार्य की शुरुवात पुरे दिल और जोरदार प्रयास के साथ करे.

                                                                             Chanakya चाणक्य

chanakya niti ke anusar in ladkiyo se na kae shadi

Mereprabhu
Logo
Enable registration in settings - general