हनुमान जी का अनोखा चमत्कारी मंदिर, मंदिर में कदम रखते ही हर दुःख हो जाता है गायब !

हमारा देश चमत्कारों का देश कहा जाता है इसके साथ ही यह भक्तो का भगवान के प्रति अटूट विश्वाश होता है. भगवान भी अपने भक्तो की आस्था को झूठ नही होने देते तथा समय समय पर अपने चमत्कारों द्वारा उन पर अपनी कृपा दृष्टि बरसाते है.

ऐसा ही एक धार्मिक स्थल है उज्जैन में स्थित हनुमान जी का मंदिर. यह है उज्जैन का अखंड ज्योति मंदिर, जिसे बनाने का उद्देश्य केवल हनुमान जी की कृपा पाना ही था. किंतु वर्षों से यहां हुई चमत्कारी घटनाओं ने लोगों का इस मंदिर के प्रति उनका विश्वास बढ़ा दिया है.

उज्जैन का अखंड ज्योति मंदिर हनुमान जी के चमत्कार की वजह से ही जाना जाता है. यहां भक्तों को हनुमान जी की विशेष मूर्ति के दर्शन प्राप्त होते हैं, ऐसी मूर्ति आपको हर जगह देखने को नहीं मिलेगी.

दरअसल यहां हनुमान जी की सिंदूरी प्रतिमा स्थापित है. इस मूर्ति को यदि ध्यान से देखें तो इसके पैरों में हनुमान जी ने एक राक्षसी दबा रखी है. कहा जाता है कि लक्ष्मण को बचाने के लिए जब हनुमान जी संजीवनी ला रहे थे तो लंकिनी नामक राक्षसी ने उनका मार्ग रोका था. उस समय हनुमान जी लंकिनी को अपने पैरों के नीचे दबाकर आगे बढ़ गए थे.

यहां आप हनुमान जी के ठीक उसी स्वरूप के दर्शन कर सकते हैं. हनुमान जी की ये प्रतिमा दक्षिणमुखी है. इस प्रतिमा में उनके एक हाथ में संजीवनी तो कंधे पर गदा सुशोभित है.

उनके हाथों में बाजूबंद, पांव में पाजेब और कलाई में कड़े पहने हुए हैं. हनुमान जी के इस स्वरूप के दर्शन मात्र से ही भक्तों के सभी कष्ट दूर हो जाते हैं.

लेकिन केवल हनुमान जी की यह महान मूर्ति ही इस मंदिर की एकमात्र खासियत नहीं है. इस मंदिर में एक और वस्तु है जो दूर-दूर से भक्तों को अपने दर्शन के लिए खींच ले आती है.

Mereprabhu
Logo
Enable registration in settings - general