शास्त्रो में वर्णित हनुमान जी का विशेष उपाय, हर हाल में पूरी होती है कोई भी एक मनोकामना पूर्ण !

श्रीहनुमान चरित्र संकल्प, एकाग्रता, ध्यान व साधना के सूत्रों से ज़िंदगी के लक्ष्यों को पूरा करने की सीख व ऊर्जा देता हैं. साफ मन, ताकतवर शरीर व सही विचारों के साथ ज़िंदगी और काम को लेकर सत्य व समर्पण की भावना मजबूत बनाने के लिए मंगलवार के अलावा शनिवार को भी हनुमान उपासना बहुत शुभ फल देने वाली मानी गई है.

हर दिन असफलता व निराशा को पीछे धकेल, जीवन से जुड़े नए-नए लक्ष्यों को भेद आप भी अगर सफलता और सुख की हर चाहत को पूरा करना चाहते हैं, बजरंगबली की उपासना का अचूक व आसान उपाय विशेष मंत्र बोलते हुए करें. यह उपाय शनि पीड़ा से बचाने वाला भी माना गया है-

* शनिवार को हनुमानजी की पूजा तन, मन, वचन में पूरी पवित्रता के साथ घर या देवालय में करें.

* हनुमानजी की पूजा में कुमकुम, अक्षत, फूल, नारियल, लाल वस्त्र और लाल लंगोट के साथ ही विशेष रूप से सिंदूर और चमेली का तेल चढ़ाने का महत्व है.

* श्रीहनुमान की ऐसी प्रतिमा जिस पर सिंदूर का चोला चढ़ा हो, पर पवित्र जल से स्नान कराएं. इसके बाद सभी पूजा सामग्री अर्पण कर इस विशेष मंत्र से थोड़ा सा चमेली के तेल में सिंदूर मिलाकर या सीधे प्रतिमा पर हल्का सा तेल लगाकर सिंदूर का चोला चढ़ा दें-

सिन्दूरं रक्तवर्णं च सिन्दूरतिलकप्रिये. भक्तयां दत्तं मया देव सिन्दूरं प्रतिगृह्यताम..

* हनुमानचालीसा का पाठ करें या सुनें. इसके बाद गुग्गल धूप व तेल के दीप से श्रीहनुमान की आरती करें व दु:खों की मार से रक्षा की प्रार्थना करें.

श्रीहनुमान की ऐसी उपासना रोजाना भी करें तो इससे बने शांत व स्वच्छ मन से पैदा ईश्वर व खुद पर भरोसा व्यावहारिक तौर से मनचाही सफलता व यश दिलाने वाला साबित होगा.

Mereprabhu
Logo
Enable registration in settings - general