मृत्यु के बाद सद्गति का विस्तृत वर्णन हैं गरुड़ पुराण

गरुण पुराण (garuda purana ) जगत के पालनकर्ता श्री विष्णु भक्ति की पावन गंगा हैं.वैष्णव संप्रदाय से सम्बंधित यह ग्रन्थ मृत्यु के बाद आत्मा की सद्गति आत्मा की यमलोक की यात्रा का वर्णन हैं.कौन कौन से कार्यो को करकर आत्मा को सद्गति मिलती हैं इन सभी बातो का वर्णन हैं, गरुण पुराण (garuda purana ) […]

स्नेहपूर्ण अभिव्यक्ति हैं रक्षा बंधन का पावन पर्व

भारतीय संस्कृति कई उत्सवों की झलक है Raksha Bandhan 2018 ये उत्सव हमारी वैभवपूर्ण परम्पराओ और संस्कृतियों का एक दर्पण हैं. इन्ही उत्सवों में एक उत्सव हैं राखी का , राखी का यह पवित्र त्यौहार भाई बहिन के बीच के अटूट प्रेम को प्रदर्शित करता हैं. सावन मास की पूर्णिमा को मनाया जाने वाला यह पवित्र […]

गढ़मुक्तेश्वर : शिव के गणो को जहा मिली थी पिशाच योनि से मुक्ति

इतिहास के पन्नो को पलटे तो गढ़मुक्तेश्वर की जड़ें कुरु राजवंश हस्तिनापुर से जुडी मानी जाती हैं. एक ऐतिहासिक स्थान के रूप में प्रसिद्द गढ़मुक्तेशवर (Mukteshwar Temple ) को बसाने का श्रेय गढ़वाल के राजाओ को जाता हैं. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से मात्र 100 किलोमीटर की दूरी पर स्थित गढ़मुक्तेश्वर एक ऐतिहासिक , आध्यात्मिक , […]

नाग पंचमी करे इस मंत्र से पूजा

Naag Panchami 2018 भारतीय संस्कृति में अनेक प्रकार के रीतिरिवाज और त्योहारों को मनाने की परंपरा चली आ रही हैं, हमारे व्रत त्यौहार हमारी संस्कृति को दर्शाते हैं, इन्ही में एक त्यौहार हैं नाग पंचमी का. नाग पंचमी  (naag panchami ) का त्यौहार सावन माह में शुक्ल पक्ष की पंचमी को मनाया जाता हैं. इस […]

गुवाहाटी स्थित नवग्रह मंदिर

भारतीय ज्योतिषी में नवग्रह का बहुत महत्वपूर्ण स्थान हैं, नवग्रह व्यक्ति की कुंडली उसके भाग्य , उसकी जीवन रेखा के लिए बहुत महत्वपूर्ण कारक होते हैं. इसलिए जब कभी व्यक्ति के जीवन में कोई उथल पुथल मचती हैं , तो व्यक्ति अपने ग्रहो को शांत कराने के लिए पूजा करने लगता हैं. ग्रहो की संख्या […]

माँ बगलामुखी पूरी करती हैं सबकी मनोकामना

देवी भगवती की उपासना के लिए सबसे प्रमुख पर्व हैं नवरात्रि, नवरात्रि का प्रमुख पर्व वर्ष में चार बार आता हैं, चैत्र की नवरात्रि और शारदीय नवरात्रि इसके अलावा माघ मास की नवरात्रि और आषाढ़ मास की नवरात्रि , आषाढ़ और माघ मास की नवरात्रि गुप्त नवरात्रि कहलाती हैं, इस नवरात्रि में देवी भगवती की […]

प्रकृति के मनोरम दृश्यों के बीच स्थित हैं माँ पूर्णागिरि का पावन धाम

उत्तराखण्ड की पावन भूमि देवभूमि में अनेक तीर्थ और धाम स्थित हैं. शक्तिपीठो में से एक पूर्णागिरि का धाम उत्तराखंड के टनकपुर में अन्नपूर्णा शिखर पर स्थित हैं.यह मंदिर देवी के शक्तिपीठो में से एक हैं. देवी सती के 108 शक्तिपीठो में से एक पूर्णागिरि के धाम में माता सती की नाभि गिरी थी. अन्नपूर्णा […]

यदि आपके घर में है तुलसी जान ले ये 6 बाते वरना होगा भारी नुकसान

How do you make Tulsi Tea? तुलसी आयुर्वेदिक चिकित्सा में और भारत में एक महत्वपूर्ण स्थान रखती है, हम तुलसी पौधे की पूजा करते हैं। तुलसी के पौधे को बहुत कम रखरखाव की आवश्यकता है और आप भारत में हर जगह तुलसी पौधे (Tulsi ka poudha)  पाएंगे तुलसी का अद्भुत स्वास्थ्य लाभ है और मेरे […]

आध्यात्म और रहस्य का केंद्र हैं नेपाल स्थित पशुपतिनाथ का धाम

देवो के देव महादेव के वैसे तो कई मंदिर ज्योतिर्लिंग मौजूद हैं पर नेपाल स्थित ज्योतिर्लिंग पशुपतिनाथ (pashupatinath mandir) की महिमा ही अलग हैं, इस ज्योतिर्लिंग को केदारनाथ  (kedarnath jyotirling) का हिस्सा माना जाता हैं.नेपाल के काठमांडू में स्थित देवपाटन गांव में पशुपतिनाथ का मंदिर बागमती नदी के किनारे स्थित हैं. यह मंदिर हिन्दू मंदिर […]

बंगला साहिब गुरुद्वारा आस्था के साथ सुविधाओं का भी उचित प्रबंधन

दिल्ली स्थित बांग्ला साहिब गुरुद्वारा (Bangla Sahib Gurudwara) दिल्ली के महत्वूर्ण गुरुद्वारों में से एक हैं , यह गुरुद्वारा सिखों के आठवे गुरु गुरु हरकिशन का दिल्ली प्रवास के दौरान केंद्र रहा था. गुरु हरकिशन सिखों के गुरुओ में सबसे कम उम्र के गुरु रहे थे , मात्र आठ वर्ष की उम्र में ही ही […]