पीपल के पत्ते का एक चमत्कारी उपाय | pipal ke patte ka totka

Pipal Ke Patte ka Totka (पीपल के पत्ते का टोटका)

पीपल के पेड़ को पेड़ो का राजा भी कहा जाता है क्युकी इसमें ना केवल देवी देवता वास करते है |अपितु हमारे पितरो का वास भी होता है|  दोस्तों आज हम आपको pipal ke patte ka totke के बारे में बताने जा रहे है. दोस्तों इस टोटके को बताने से पहले हम आपको यह की कृपया इसका दुरपयोग मत करना. यह टोटका केवल तभी प्रयोग में लाये जब अत्यंत जरूरत हो. किसी को चोट पहुचने अथवा नुक्सान पहुचने की दृष्टि में यह टोटका कार्य नहीं करेगा.

यदि कोई पुरुष किसी स्त्री को आकर्षित करना चाहता है अथवा कोई स्त्री किसी पुरुष को आकर्षित करना चाहती है तो इस पीपल के टोटके का प्रयोग जरूर करे.

पीपल के पत्ते का टोटका

  • यदि आप रविवार को छोड़ कर बाकि दिन हनुमान चालीसा पीपल के पेड़ के निचे बैठ कर पाठ करे | आपको लाभ मिलेगा |
  • पीपल के पेड़ को लगा कर उसकी पूजा करने से भीं लाभ मिलता है |
  • ऐसा माना जाता है कि यदि कोई व्यक्ति रोज पीपल की पूजा करके आपने बाए हाथ से उसको हाथ लागए तो उसको रोगों से मुक्ति मिल जायगी
  • अगर आप चाहते हो कि आपके व्यापार में उन्नति हो तो आप  शनिवार को पीपल का एक पत्ता ले ओर उसको पानी से धोये फिर उसमें चन्दन से स्वतिक बना ले | उसको आपनी तिजोरी में रख ले | ऐसा लगातार 7 शनिवार तक करेगे | आपको लाभ अवश्य मिलेगा|

pipal ke patte se vashikaran or Iski pryog vidhi

इसके लिए आप सर्वप्रथम पीपल के वृक्ष से ताजा दो पत्ते ले आये. ध्यान पीपल के पत्ते निचे से उठाये हुए, पिले और सूखे ना हो. अब जिस किसी से भी प्यार करते हो उसका नाम पीपल के पत्ते में कपूर के जले हुए काले अवशेष से लिख दे.

अब एक पीपल के एक पत्ते को उसी पीपल के पेड़ के पास रख दे जहां से आप वह पत्ता लाये थे. पीपल के पेड़ के पास जाकर उस पत्ते को उलटा करके रखे व उस पर एक भरी पत्थर रख दे.

इसके बाद पीपल के दूसर पत्ते को अपने छत के ऊपर उलटा रख दे तथा उसके ऊपर एक छोटा सा पत्थर रख दे ताकि वह से कही उड़ न जाए. अब प्रतिदिन प्रातः काल उस पीपल के पेड़ में पानी डाले. कुछ दोनों बाद आप उस pipal ke patte ka प्रभाव देखने लगेंगे.

वह व्यक्ति जिसका आप ने पीपल के पत्ते पर नाम लिखा वह आप से सम्पर्क बनाने की कोशिश करने लगेगा और आप पर आकर्षित होने लगेगा. यह pipal ke patte ka totka अत्यंत शक्तिशाली अतः एक बार फिर हम आपको आग्रह करते है की कृपया इसका किसी नुकसान पहुचने के मकसद से प्रयोग बिलकुल भी मत करना.

Tags:

Mereprabhu
Logo
Enable registration in settings - general