पुत्र प्राप्ति के उपाय | putra prapti ke upay | putra prapti

putra prapti ke upay पुत्र प्राप्ति के उपाय 

चाहे पुत्र हो अथवा पुत्री putra prapti ke upay दोनों ही भगवान की दें है, हमें कभी भी इन दोनों पर भेदभाव नहीं करना चाहिए क्योकि दोनों ही अपने अपने स्थान पर सर्वश्रेष्ठ है. लड़का हो या लड़की ये मैटर नहीं करता मैटर करती है तो वह है हमारे दी गई परवरिश और संस्कार.

जानिये सन्तान कैसे प्राप्त होगी putra prapti ke upay

ज्योतिष के अनुसार कोई व्यक्ति यह जान सकता है की पीरियड के बाद किस दिन गर्भ धारण करने से आपको पुत्र की प्राप्ति होगी तो किस दिन गर्भ धारण करने से आपको पुत्री putra prapti ke upay की प्राप्ति होगी. अर्थात किस दिन गर्भ धारण करने से किस सन्तान की प्राप्ति होगी.
Period शुरू होने वाले दिन से चौथी, छठी, 8वीं, 10वीं, 12वीं, 14वीं और 16वीं रात को गर्भ ठहरने से पुत्र प्राप्त होता है.
जबकि Period शुरू होने वाले दिन से 5वीं, 7वीं, 9वीं, 11वीं, 13वीं तथा 15वीं रात को गर्भ ठहरने से पुत्री putra prapti ke upay प्राप्त होती है.

सन्तान के गुण putra prapti ke upay

1. चौथी रात को गर्भ ठहरने से होने वाला बेटा, कम आयु वाला और गरीब होता है. 5वीं रात को गर्भ ठहरने से होने वाली बेटी, भविष्य में सिर्फ लड़कियाँ हीं पैदा करती है. छठी रात को गर्भ ठहरने से putra prapti ke upay जन्म लेने वाला बेटा, मध्यम आयु वाला होता है. 7वीं रात को गर्भ ठहरने से जन्म लेने वाली बेटी, बांझ होती है.

8वीं रात को गर्भ ठहरने से जन्म लेने वाला बेटा, ऐश्वर्यशाली होता है. रात को गर्भ ठहरने से जन्म लेने वाली बेटी, ऐश्वर्यशालिनी होती है.10वीं रात को गर्भ ठहरने से जन्म लेने वाला बेटा, चतुर होता है putra prapti ke upay . 11वीं रात को गर्भ ठहरने से जन्म लेने वाली बेटी, चरित्रहीन होती है.12वीं रात को गर्भ ठहरने से जन्म लेने वाला बेटा, पुरुषोत्तम होता है.

Mereprabhu
Logo
Enable registration in settings - general