राम भक्त डॉक्टर को जब साईं बाबा के अंदर दिखे श्री राम !

sai ram :

जिसकी जैसी भावना होती है, ईश्वर के दर्शन वैसे ही होते हैं। एक बार एक डॉक्टर किसी सांईंभक्त मामलदार के साथ शिर्डी इस शर्त पर आए कि वे श्री सांईंबाबा के आगे शीश नहीं झुकाएंगे, क्योंकि उनके ईष्ट देवता श्रीराम हैं। श्रीराम के अतिरिक्त वे किसी के आगे शीश नहीं झुकाते।

दोनों किसी तरह शिर्डी पहुंचे और बाबा के दर्शन के लिए द्वारिकामाई मस्जिद गए। मामलदार को अपने डॉक्टर मित्र को आगे-आगे जाते देख और बाबा की चरण वंदना करते देख बड़ा आश्चर्य हु

Mereprabhu
Logo
Enable registration in settings - general