shani graha
0
कलियुग के व्यस्त शनिदेव
0

shanidev kaliyug : कलियुग के व्यस्त शनिदेव ज्योतिष में मान्य सात ग्रह पिण्डों में शनिदेव पृथ्वी से सबसे दूर अपनी न्याय व्यवस्था का संचालन करने में व्यस्त हैं। ...

0
आकस्मिकता देती है शनि-मंगल की युति
0

shani mangal yuti : शनि और मंगल दोनों की गिनती पाप ग्रहों में होती है। कुंडली में इनकी अशुभ स्थिति भाव फल का नाश कर व्यक्ति को परेशानियों में डाल सकती है, ...

0
शनि ग्रह हैं या देवता
0

shani planet or god : वैज्ञानिक दृष्टिकोण:- खगोल विज्ञान के अनुसार शनि का व्यास 120500 किमी, 10 किमी प्रति सेकंड की औसत गति से यह सूर्य से औसतन डेढ़ अरब किमी. ...

0
शनिदेव की वेशभूषा
0

shani dev vastra : पुराणों अनुसार इनके सिर पर स्वर्णमुकुट, गले में माला तथा शरीर पर नीले रंग के वस्त्र और शरीर भी इंद्रनीलमणि के समान है। इनके हाथों में धनुष, ...

0
जानिए भाई ‘शनि’ और बहन ‘भद्रा’ के बारे में रोचक जानकारी
0

shree shani dev : पौराणिक मान्यता के आधार पर देखें तो भद्रा का संबंध सूर्य और शनि से है। ज्ञात हो कि भद्रा भगवान सूर्य की कन्या है। सूर्य की पत्नी छाया से ...

0
जानिए कैसे बने शनि देव नवग्रहों के राजा, पढ़ें पौराणिक कथा..
0

shani maharaj : जनसामान्य में फैली मान्यता के अनुसार नवग्रह परिवार में सूर्य राजा व शनिदेव भृत्य हैं लेकिन महर्षि कश्यप ने शनि स्तोत्र के एक मंत्र में सूर्य ...

0
किन लोगों को शनि बनाता है धनी जब होते है मेहरबान शनि देव
0

shani dev blessings : शनिदेव की अपने पिता सूर्य से अत्यधिक दूरी के कारण यह प्रकाशहीन हैं। इसी कारण लोग शनिदेव को अंधकारमयी, (shani dev blessings ) भावहीन, ...

Mereprabhu
Logo
Enable registration in settings - general